स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ये है दुनिया की सबसे अनोखी पहाड़ी, पत्थर फेंकने से पता चलता है गर्भ में लड़का है या फिर लड़की

Prakash Chand Joshi

Publish: Sep 09, 2019 15:20 PM | Updated: Sep 09, 2019 15:20 PM

Weird

  • झारखंड में स्थित है ये पहाड़ी

नई दिल्ली: कहते हैं जब एक औरत मां बनती है तो उससे ज्यादा खुशी का पल शायदी ही कुछ और हो। लेकिन ये पता नहीं लगाया जा सकता कि महिला लड़के को जन्म देगी या फिर लड़की को। हालांकि, सोनोग्राफी से ये पता चल सकता है, लेकिन इसका इस्तेमाल करना गैर कानून और एक अपराध है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि झारखंड में एक ऐसा इलाका है जहां प्राचनी पंरपरा निभाई जाती है, जिसमें पता चलता है कि महिला को लड़का होगा या फि लड़की।

फेक अलर्ट: राहुल गांधी इमरान के साथ नहीं खा रहे बिरयानी, गलत दावे के साथ किया जा रहा है शेयर

दरअसल, झारखंड के लोहरदगा में स्थित खुखरा गांव में एक ऐसी पहाड़ी भी है जो गर्भ में पल रहे नवजात के बारे में ये बता देती है कि लड़का होगा या फिर लड़की। वहीं स्थानीय लोगों की मानें तो इसमें एक भी रुपये खर्च किए बिना ये पता लगाया जा सकता है। लोगों के मुताबिक ये पर्वत बीते 400 सालों से लोगों को उनके भविष्य के बारे में जानकारी दे रहा है। यहां ये रिवाज 400 साल पहले नागवंशी राजाओं के शासन काल से चली आ रही है। लोगों की मानें तो इस पहाड़ी पर चांद के आकारी की आकृति बनी हुई है, जो नवजात शिशु के बारे में बताती है।

इस पहाड़ी पर पत्थर मारकर इस बात की जांच की जाती है। गर्भवती महिला एक निश्चित दूरी से पत्थर को इस पहाड़ी पर बने चांद की ओर मारती है और अगर पत्थर चांद के आकार के ठीक बीच में जाकर लगता है तो समझा जाता है कि गर्भ में लड़का है और अगर वो चांद के बाहर लगता है तो माना जाता है कि गर्भ में लड़की है। जहां एक तरफ सरकार गर्भ में पल रहे बच्चों के बारे में पता लगाने पर रोक लगा चुकी है, तो वहीं ये पहाड़ी हर किसी को अचंभित करती है।