स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

हजारों में नहीं 10 लाख रुपये लीटर बिकता है इस अनोखे केकड़े का खून, इंसान के लिए नहीं है किसी अमृत से कम

Prakash Chand Joshi

Publish: Oct 04, 2019 12:52 PM | Updated: Oct 04, 2019 12:52 PM

Weird

  • इंसानी शरीर को देता है ये खास फायदा

नई दिल्ली: कहते हैं अगर आपको कोई चीज खरीदनी है तो आपकी जेब में पैसे होना बेहद जरूरी है। हालांकि, कई चीजें काफी सस्ती आ जाती हैं तो किन्हीं चीजों को खरीदने के लिए काफी मोटी रकम चुकानी पड़ती है। ऐसा ही कुछ हॉर्स-शू केकड़े के खून के लिए भी है, जिसके लिए आपको लाखों रुपये खर्च करने होते हैं। चौंकिए मत जनाब, चलिए आपको बताते हैं कि क्यों आखिर इसके खून के लिए लाखों रुपये खर्च करने पड़ते हैं।

blood1.jpg

लाखों में है कीमत

क्या आपने कभी ये सुना है कि पानी में पाए जाने वाले हॉर्स-शू केकड़े का खून मेडिकल साइंस के लिए किसी अमृत से कम नहीं है। शायद नहीं, लेकिन इस केकड़े का खून कोई मामूली खून नहीं होता। दरअसल, इसके खून का रंग लाल नहीं बल्कि नीले रंग का होता है। इसका नाम हॉर्स-शू केकड़ा इसलिए रखा गया है क्योंकि इसकी बनावट घोड़े के नाल जैसी होती है। वहीं इसका वैज्ञानिक नाम Limulus Polyphemus है। वहीं इस केकड़े का खून कोई हजारों में नहीं बल्कि, 10 लाख रुपये प्रति लीटर के हिसाब से बिकता है।

इस शख्स ने भेड़-बकरी चराते हुए बनाया ऐसा वीडियो, पब्लिक हो गई फैन

blood2.jpg

इतना फायदेमंद है मानव शरीर के लिए

हर साल 5 लाख केकड़ों का खून निकाला जाता है। वहीं सबसे हैरानी की बात ये है कि इस जीव को इसकी खूबी के लिए मार दिया जाता है। इसके खून में कॉपर बेस्ट हीमोसाइनिन नाम का पदार्थ होता है, जिसके चलते इसके खून का रंग नीला होता है। इस केकड़े के खून को मानव शरीर के अंदर इंजेक्ट कर खतरनाक बैक्टीरिया की पहचान की जाती है। डॉक्टर ऐसा इसलिए करते हैं क्योंकि ये नीले रंग का ब्लड मानव शरीर के अंदर खतरनाक बैक्टीरिया की बहुत सटीक पहचान करता है। जिसके चलते मानव शरीर में दवा के नकारात्मक प्रभावों का पता लगता है।