स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

30 साल पहले इस गांव में थे 200 लोग लेकिन अब ये शख्स यहां रहता है अकेला, वजह आपको हैरान कर देगी

Prakash Chand Joshi

Publish: Sep 11, 2019 12:54 PM | Updated: Sep 11, 2019 12:54 PM

Weird

  • रुस की सीमा पर स्थित है ये गांव

नई दिल्ली: लगभग हर देश में आपको शहर और गांव दोनों देखने को मिल जाएंगे। दोनों की बात भी अलग होती है। जहां शहरों की जिंदगी दौड़ती-भागती होती है, तो वहीं गांव की जिंदगी इससे बिल्कुल अलग होती है। हालांकि, आज के दौर में लोगों को गांवों से शहरों की तरफ पलायन जारी है। लेकिन हम आपको एक ऐसे गांव के बारे में बताने जा रहे हैं जहां आज महज एक अकेला इंसान रहता है।

village2.png
IMAGE CREDIT: social media

अकेला रहता है गांव में

रुस की सीमा पर मौजूद है डोबरुसा गांव। यहां आज से तीस साल पहले लगभग 200 लोग रहा करते थे। लेकिन आज यहां महज एक अकेला व्यक्ति रहता है। बताया जाता है कि सोवियत संघ के टूटने से इस गांव के सभी लोग आस-पास मौजूद शहरों की ओर चले गए। किसी दूसरे जगहों पर बसने चले गए। जबकि कुछ लोगों का निधन हो गया। वहीं आखिरी में केवल तीन लोग बचे थे। इसमें से एक दंपत्ति जेना और लिडा की बीते फरवरी महीने में हत्या हो गई। ऐसे में यहां बचा तो अकेला गरीसा मुनटेन नाम का शख्स।

village1.png
IMAGE CREDIT: social media

कुछ इस तरह रहता है

इस पूरे गांव में मुनटेन अकेले रहता है। लेकिन उसके साथ कई सारे जीव रहते हैं, जिनमें 5 कुत्ते, 9 टर्की पक्षी, 2 बिल्लियां, 42 मुर्गियां, 120 बत्तखें, 50 कबूरत समेत कई हजार मधुमक्खियां शामिल हैं। मुनटेल के मुताबिक, उन्हें अकेलापन बहुत परेशान करता है। ऐसे में उन्होंने इसके लिए रास्ता निकाला कि वो इन जीवों से बात करें और अब वो ऐसा ही करते हैं।