स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ये है दुनिया का एक ऐसा देश, जहां बच्चों के कंधों पर है रेलवे की जिम्मदारी

Prakash Chand Joshi

Publish: Sep 11, 2019 17:15 PM | Updated: Sep 11, 2019 17:15 PM

Weird

  • पिछले साल मनाई गई 70वीं वर्षगांठ

नई दिल्ली: किसी भी देश के लिए यातायात सबसे सुगम और जरूरी साधन है। इसी में से एक है रेल, जिसे संतुलित करने के लिए कई लोगों की जरूरत होती है। ये लोग एक प्लान के मुताबिक, ये काम करते हैं क्योंकि रेलवे को चलाना कोई आसान काम नहीं। लेकिन दुनिया में एक ऐसा देश भी है। जहां बच्चों के कंधों पर इसकी पूरी जिम्मेदारी है।

rail1.png
IMAGE CREDIT: social media

क्या करते हैं बच्चे

यूरोप के देश हंगरी की राजधानी बुडापेस्ट के ऊपरी हरी पहाड़ियों के जंगलों में एक रेलवे स्टेशन है, जो कि वुडलैंड के गहरे जंगल के घिरा हुआ है। लेकिन यहां कि सबसे हैरान करने वाली बात ये है कि इस रेलवे स्टेशन की जिम्मेदारी बच्चों के कंधों पर है। आमतौर पर जैसे रेलवे टिकट कार्याल, डीजल इंजन, सिग्नल गार्ड जैसी चीजें होती हैं। ऐसा ही यहां भी है जिसकी जिम्मेदारी बच्चों के कंधों पर है।

rail2.png
IMAGE CREDIT: social media

पिछले साल मनाई 70वीं वर्षगांठ

पिछले साल ही रेलवे ने अपनी 70वीं वर्षगांठ मनाया। इस खास कार्यक्रम के दौरान यंगस्टर ऑफ गिएर्मेक्वास रेलवे स्टेशन पर बच्चे अपने लाल, नीले और सफेद रंग की वर्दी में बिल्कुल ही अलग अंदाज में नजर आ रहे थे। इस दौरान सभी ने रेलवे स्टेशन पर बच्चों की कुशलतापूर्वक टिकट बेचते देखा। ये बच्चे ट्रेनों की जांच करते हैं और स्टेशन से ट्रेन निकलते समय सलामी करते हैं। बच्चों को ऐसा करने में बड़ा मजा आता है।