स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

डाइटिंग करने से भी बढ़ता है 'मोटापा', जानें ये खास बातें

Vikas Gupta

Publish: Mar 31, 2019 08:14 AM | Updated: Mar 30, 2019 16:17 PM

Weight Loss

आदतन या डाइटिंग के नाम पर खाली पेट रहने से भी मोटापा बढ़ता है।

मोटापा नियंत्रित रखने में खानपान की क्या अहमियत है ?

वजन नियंत्रित रखने में खानपान की प्रमुख भूमिका है। आदतन या डाइटिंग के नाम पर खाली पेट रहने से भी मोटापा बढ़ता है। इसलिए खाली पेट कतई ना रहें। हर तीन या साढ़े तीन घंटे में भोजन करें। अनाज में ओट्स, बाजरा, गेहूं की मात्रा बढ़ाएं। हरी सब्जियां-साग खूब खाएं। चावल, चॉकलेट, कॉफी, चिप्स, मिठाइयां तथा फास्टफूड से बचें। भोजन को खूब चबा-चबाकर खाएं। डिनर सोने से दो घंटे पहले कर लें। कब्जियत से बचने को उड़द दाल, मैदे से बनी चीजें, बैंगन, अरबी व खट्टी चीजें कम खाएं। सूप व छाछ अधिक लें।

इसके तेजी से फैलने के क्या कारण हैं ?
दुनिया की कम से कम 20 प्रतिशत आबादी मोटापे से ग्रसित है। इसका सबसे बड़ा कारण जीवनशैली में बदलाव है। गैजेट्स के बढ़ते चलन ने शारीरिक सक्रियता कम कर दी है लेकिन तनाव और अनिद्रा की समस्या को बढ़ा दिया है। ये सभी कारण मोटापा बढ़ने के रिस्क फैक्टर माने जाते हैं। हाल ही एक अध्ययन में भारत के महानगरों के 73 प्रतिशत लोगों का वजन औसत से अधिक पाया गया है।

बढ़ा हुआ वजन कैसे घटाएं ?
दिनभर में जितनी कैलोरी चाहिए प्रतिदिन उससे 100-200 कैलोरी का कम लें।
जंकफूड, अधिक तले-भुने पदार्थों व प्रोसेस्ड फूड जैसे चिप्स, पेटीज आदि से परहेज करें।
दिन में तीन बार ज्यादा भोजन करने के बजाय उसको कम-कम मात्रा में अधिक बार खाएं।
रोजाना कम से कम 30 मिनट व्यायाम जरूर करें।
अनिद्रा और तनाव से छुटकारा पाने के लिए ध्यान करें।
स्क्रीन (टीवी, कम्प्यूटर व मोबाइल आदि) के सामने अधिक समय न बिताएं।
खाना खाने और सुबह जागने का एक समय निर्धारित करें।