स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पाकिस्तान में सिंधी हिंदू लड़कियों का जबरन धर्म परिवर्तन कराने के विरोध में किया प्रदर्शन

Anil Kumar Soni

Publish: Sep 20, 2019 10:58 AM | Updated: Sep 20, 2019 10:58 AM

Vidisha

पूज्य सिंधी पंचायत ने रैली निकालकर प्रशासन को सौंपा ज्ञापन

विदिशा। पाकिस्तान में सिंधी हिंदुओं के धार्मिक स्थल पर हो रहे तोडफ़ोड़, धर्म ग्रंथों को नष्ट करने, लड़कियों का धर्म परिवर्तन कर जबरन विवाह करने और दुकानों में तोडफ़ोड़ किए जाने तथा हिंदुओं को आत्महत्या करने के लिए उकसाने आदि के विरोध में गुरुवार को पूज्य सिंधी पंचायत ने तिलकचौक पर पाकिस्तान सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुए पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए। इसके बाद वाहन रैली के रुप में कलेक्ट्रेट पहुंचे और राष्ट्रपति के नाम संबोधित ज्ञापन सौंपा।


पाकिस्तान सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया
सुबह 10 बजे से तिलकचौक पर पूज्य सिंधी पंचायत सहित अन्य लोग एकत्रित होने लगे थे। 11 बजे विधायक शशांक भार्गव सहित पंचायत के पदाधिकारी पहुंचे और पाकिस्तान सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया।

 

विधायक भार्गव ने कहा कि पाकिस्तान के इस कृत्य को बिलकुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। वहां रह रहे अल्पसंख्यक सिंधी-हिंदु परिवारों की रक्षा की दिशा में ठोस कदम उठाए जाने चाहिए। पूज्य सिंधी पंचायत के वरिष्ठ मार्गदर्शक सुरेश मोतियानी ने कहा कि पाकिस्तान द्वारा वहां अल्पसंख्यक हिंदुओं के बच्चों का जबरन धर्म परिवर्तन करवाना, धार्मिक स्थलों में तोडफ़ोड़ करवाना कायराना हरकत है। यदि पाकिस्तान युद्ध चाहता है तो हम इसके लिए तैयार हैं।



रैली के रूप में कलेक्ट्रेट पहुंचे
लेकिन वहां अल्पसंख्यकों की रक्षा की दिशा में वहां की सरकार से बात कर ठोस कदम उठाए जाएं। अन्य वक्ताओं ने भी अपनी बात रखी। इसके बाद सभी वाहन रैली के रूप में कलेक्ट्रेट पहुंचे, जहां एडीएम वृंदावनसिंह को राष्ट्रपति के नाम संबोधित ज्ञापन सौंपा। इस दौरान पंचायत अध्यक्ष हरीश वाधवानी, सहमंत्री मनोज पंजवानी, पंडित राकेश शर्मा, गुरुमुखदास छुगानी, गिरधारीलाल आदि मौजूद रहे।