स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यहां मरीज एंबुलेंस में नहीं, खाट पर आते है अस्पताल

Bhupendra Malviya

Publish: Aug 22, 2019 16:10 PM | Updated: Aug 22, 2019 16:15 PM

Vidisha

जनसुुनवाई में अपनी व्यथा सुनाने पहुंचे ग्रामीण

विदिशा। जिपं कार्यालय में जनसुनवाई के दौरान विदिशा तहसील की ग्राम पंचायत भूतपरासी के ग्राम हिनौतिया के ग्रामीण अपनी व्यथा सुनाने पहुंचे। इनका कहना है कि उनके ग्राम का कोई पहुंच मार्ग नहीं है। बारिश में कीचड़ के बीच उन्हें मरीज को उपचार के दौरान खटिया पर ले जाना पड़ रहा।


साढ़े तीन किमी का रास्ता
बड़ी संख्या में आए ग्रामीण अजहर खान, मोहम्मद जलाल आदि ने बताया कि गांव का करीब साढ़े तीन किमी का रास्ता है। इस पर आज तक सड़क नहीं बनी। बारिश में कीचड़ के बीच ग्रामीणों को अपने वाहन दूसरे गांव में रखकर आना जाना करना पड़ रहा।

 

लाइन भी काफी समय से टूटी पड़ी
ग्रामीणों का कहना है कि हिनौतिया में 24 घंटे बिजली देने वाली लाइन भी काफी समय से टूटी पड़ी हुई है। उन्हें दस घंटे ही बिजली मिल पा रही। गांव में आवास व अन्य योजनाओं का लाभ भी ग्रामीणों को नहीं मिल रहा। इस दौरान अधिकारियों ने आवेदन लेकर समस्याओं के निराकरण के लिए आश्वस्त किया।

सड़क खराब होने  से मरीजों को खाट पर लाना पड़ता है

कीचड़ के कारण वाहन भी नहीं चल पा रहा
मैजिक वाहन से यह बच्चे स्कूल जाते हैं लेकिन कीचड़ के कारण मैजिक वाहन भी नहीं चल पा रहा और बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही। वहीं समीपी गांव उदलाखेड़ी में स्कूल भवन नहीं होने से बच्चों को पेड़ के नीचे पढ़ाई करना पड़ रही है।

mp news

पढ़ाई के लिए बच्चे अन्य गांव जाते है
इस सड़क का 25 प्रतिशत हिस्सा विदिशा में और 75 प्रतिशत हिस्सा भोपाल में आता है। इससे सड़क नहीं बन पा रही इससे 1 हजार से अधिक आबादी वाले इस गांव को पहुंच मार्ग नहीं मिल पा रहा। जबकि वर्षों से वे सड़क की मांग करते आए पर कोई भी इस ओर ध्यान नहीं दे रहा। बच्चों की पढ़ाई भी प्रभावित ग्रामीणों का कहना है कि गांव में कक्षा पांचवी तक ही स्कूल है। आगे की पढ़ाई के लिए बच्चे अन्य गांव जाते हैं।