स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

समय पर नहीं मिला पूर्व सीएम शिवराज की बेटी को इलाज, हुई मौत

Bhupendra Malviya

Publish: Jul 19, 2019 11:23 AM | Updated: Jul 19, 2019 14:53 PM

Vidisha

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के सुंदर सेवा आश्रम से जुड़ी थी भारती।

विदिशा। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान shivraj singh chauhan के सुंदर सेवा आश्रम से जुड़ी करीब 25 वर्षीय वर्मा Bharti की कल अचानक तबियत बिगडने से निजी अस्पताल पहुंचते ही मौत हो गई। परिजन भारती वर्मा बीमार हालत में लाए थे जहां से भारती वर्मा को जिला अस्पताल District Hospital भेज दिया यहां अस्पताल मेें डॉक्टर ने भारती वर्मा को मृत घोषित कर दिया।

सूचना पर पूर्व मुख्यमंत्री चौहान की पत्नी साधना सिंह चौहान भी अस्पताल पहुंची जहां भारती का शव देख उनकी आंखें छलछला आई। मालूम हो कि भारती वर्मा की करीब एक वर्ष पूर्व 1 मई 2018 को रंगई में शादी हुई थी। सास उर्मिला वर्मा ने बताया कि सुबह उल्टी व घबराहट होने के कारण भारती को डॉ. मंजू जैन के क्लीनिक पर सुबह करीब 10.30 बजे ले गए थे।

डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया
डॉक्टर के आने का इंतजार करते रहे। इस दौरान भारती बातचीत कर रही थी। घबराहट के कारण वहीं बेंच पर लेट गई। डॉक्टर करीब 11.45 बजे आई और कह दिया जिला अस्पताल ले जाओ। यहां अस्पताल में डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। सूचना पर नपाध्यक्ष मुकेश टंडन अस्पताल पहुंचे और भारती की मौत से उनका गला भर आया।


साधना सिंह चौहान एवं कार्तिकेय अस्पताल पहुंचे
नपाध्यक्ष मुकेश टंडन का कहना रहा कि आश्रम की सबसे सीधी और सरल बच्ची थी। उन्होंने मौत को स्वाभाविक बताया। उन्होंने कहा कि भारती को पेट की टीबी संबंधी बीमारी थी। दोपहर में साधना सिंह चौहान एवं कार्तिकेय भी अस्पताल पहुंचे। इस दौरान उन्होंने जिला अस्पताल में पीएम के लिए मर्चुरी कक्ष में रखा भारती का शव देखा तो उनकी आंखें सजल हो गई।
इधर डॉ. मंजू जैन का कहना है कि निजी क्लीनिक पर मेरे आने जाने का समय तय नहीं है। मरीज के परिजनों ने उनसे कोई संपर्क भी नहीं किया। डेढ़ माह पूर्व स्त्री रोग से संबंधित जांच के लिए मेरे यहां आए थे।


डॉक्टरों की टीम ने किया पीएम
जिला अस्तपाल से मिली जानकारी के मुताबिक शव का पीएम डॉक्टरों की टीम से कराया गया है। टीम मेें फारेंसिक विशेषज्ञ डॉ. नरेंद्र पटेल, डॉ. आरती चतुर्वेदी एवं डॉ. रवि श्रीवास्तव शामिल रहे। टीम में शामिल डॉक्टर के मुताबिक प्रथमदृष्टया छाती में संक्रमण एवं बीमारी से मौत हुई है। बिसरा जांच के लिए भेजा गया है।