स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

व्यापारियों के विरोध के बाद खाद्य सुरक्षा अधिकारी कार्यमुक्त, जिला नहीं होगा बंद

Krishna singh

Publish: Aug 19, 2019 07:03 AM | Updated: Aug 18, 2019 23:25 PM

Vidisha

शमशाबाद में व्यापारी की मौत के मामले में कलेक्टर के साथ व्यापारियों की बैठक

विदिशा. शमशाबाद के व्यापारी विमलचंद जैन की खाद्य सुरक्षा अधिकारी द्वारा की जा रही जांच के दौरान 16 अगस्त को मौत के बाद विदिशा व्यापार महासंघ के पदाधिकारी विधायक शशांक भार्गव के नेतृत्व में कलेक्टर से मिले। कलेक्टर से उन्होंने खाद्य सुरक्षा दल द्वारा की जा रही कार्रवाई पर आपत्ति जताई। इस पर कलेक्टर ने शमशाबाद में जांच के लिए गईं खाद्य सुरक्षा अधिकारी किरण श्रीवास्तव को कार्यमुक्त कर दिया है और इसकी जांच एडीएम को सौंपी है। कलेक्टर ने यह भी कहा कि जांच में यदि वे दोषी पाई जाती हैं तो उन पर एफआइआर कराई जाएगी।

 

महासंघ के महामंत्री चेतन बलेचा ने बताया कि 16 अगस्त को शमशाबाद के व्यापारी की विपरीत परिस्थितियों में मौत हो गई थी। इसी सिलसिले में विदिशा व्यापार महासंघ विधायक समेत करीब 20 लोग कलेक्टर से मिले थे। इसमें महासंघ पदाधिकारियों के अलावा खाद्य एवं पेय, मिष्ठान्न एवं भोजनालय संघों के अध्यक्ष भी शामिल थे। व्यापारियों ने कलेक्टर से कहा कि हम सैंपल लेने का विरोध नहीं कर रहे हैं, लेकिन जो प्रक्रिया अपनाई जा रही है उससे व्यापारी पहले ही दोषी प्रतीत होने लगता है। पुलिस के साथ जाना और फिर मीडिया में र्सुिर्खयां बनने से व्यापारी बेवजह बदनाम हो रहे हैं। महासंघ ने शमशाबाद के व्यापारी की मौत के मामले में दोषी अधिकारी पर कड़ी कार्रवाई की मांग भी की। इस मौके पर महासंघ अध्यक्ष मुन्नाभैया जैन के साथ ही महासंघ के सभी पदाधिकारी, एसडीएम, तहसीलदार आदि मौजूद थे। बलेचा के अनुसार बैठक में कलेक्टर द्वारा दिए गए आश्वासन के बाद व्यापार महासंघ ने बुधवार को प्रस्तावित जिला बंद का आह्वान वापस ले लिया है। इस मौके पर राजीव पीतलिया, आशीष मोदी, विश्वनाथ अग्रवाल, मनोज पंजवानी, राजीव जैन, मोहन जैन, जयकुमार जैन, लोकेश पाठक और कमल जैन आदि अनेक लोग मौजूद थे।

 

व्यापार महासंघ की आपात बैठक
महासंघ के महामंत्री चेतन बलेचा ने बताया कि शमशाबाद के मामले में विदिशा व्यापार महासंघ के अध्यक्ष मंडल की आपात बैठक बुलाई गई। इसमें सदस्यों ने घटना का विरोध किया और एक सुर में महासंघ के हर निर्णय में सहयोग की बात कही। अध्यक्ष मुन्नाभैया ने मीटिंग में व्यापारियों से दो टूक कहा कि महासंघ की किसी भी मिलावटी व्यापारी का साथ नहीं देगा, लेकिन अधिकारियों की ऐसी शर्मनाक कार्रवाई का हम हर तरह से विरोध करेंगे।

 

महासंघ ने दी थी तीन दिन की मोहलत
शमशाबाद. 16 अगस्त की इस घटना के विरोध में शमशाबाद व्यापार महासंघ ने 17 अगस्त को कलेक्टर के नाम ज्ञापन तहसीलदार को देते हुए प्रशासन को तीन दिन की मोहलत दी थी कि यदि तीन दिन में संबंधित अधिकारी पर कार्रवाई नहीं हुई तो अनिश्चितकालीन शमशाबाद बंद के साथ ही पूरे जिले में प्रदर्शन किया जाएगा। इसके बाद विदिशा व्यापार महासंघ ने भी कलेक्टर से चर्चा की और कार्रवाई का भरोसा मिलने पर जिला बंद का प्रस्ताव वापस लिया।

 

अब मिलावटी सामग्री के परिवहन पर नजर
व्यापारियों से कलेक्टर संग हुई बैठक के बाद कलेक्टर सिंह ने मिलावटी खाद्य पदार्थों के परिवहन पर नजर रखने के संकेत दिए हैं। खासकर बसों के माध्यम से मिलावटी खाद्य पदार्थों के आने पर कार्रवाई की जाएगी। यह कार्रवाई बस मालिकों पर होगी।

 

व्यापारियों के साथ बैठक की थी। उनकी बात सुनी है। संबंधित खाद्य सुरक्षा अधिकारी को कार्यमुक्त कर दिया है। एडीएम से उनकी जांच कराई जा रही है, दोषी पाए जाने पर सख्त कार्रवाई होगी।
-कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, कलेक्टर विदिशा