स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पूर्व सीएम शिवराज के खिलाफ होगी FIR दर्ज , कई बिंदुओं पर होगी जांच

Bhupendra Malviya

Publish: Sep 14, 2019 14:42 PM | Updated: Sep 14, 2019 14:42 PM

Vidisha

कोतवाली में कलेक्टर व एसपी ने भी की विधायक से चर्चा।

विदिशा। विधायक शशांक भार्गव के साथ कांग्रेस ने कोतवाली पहुंचकर जमकर हंगामा किया। कांग्रेस के लोग सड़क पर धरने पर बैठ गए और जमकर नारेबाजी की। कांग्रेस के सभी लोग विधायक भार्गव पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के खिलाफ लोगों को भड़काने, बिजली बिल जलाने एवं कार्यक्रम में बिजली चोरी का प्रकरण दर्ज कराने के लिए पहुंचे थे, उनकी जिद थी कि एफआइआर दर्ज कराकर ही रहेंगे, लेकिन तीन घंटे बाद भी एफआइआर नहीं हो पाई और अधिकारियों के आश्वासन पर सभी कांग्रेस के लोग को वापस लौटना पड़ा।


विधायक मोर्चा खोले हुए
मालूम हो कि दो दिन पूर्व हुए भाजपा के घंटानाद आंदोलन में पूर्व मुख्यमंत्री चौहान के भाषण एवं बिजली बिल जलाने व कार्यक्रम में चोरी से बिजली जलाने की बात पर विधायक मोर्चा खोले हुए हैं। सुबह कांग्रेस के लोग माधवगंज चौराहे पर एकत्रित हुए और चौहान के खिलाफ नारेबाजी करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने कोतवाली पहुंचे।


मुकदमा दर्ज कराने का आवेदन दिया
कोतवाली में सीएसपी भारतभूषण शर्मा को आवेदन दिया जिसमें इस आंदोलन में शामिल रहे पूर्व मुख्यमंत्री चौहान सहित विधायक राजश्रीसिंह, लीना जैन, हरिसिंह सप्रे, भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ. राकेश जादौन, नपाध्यक्ष मुकेश टंडन के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा दर्ज कराने का आवेदन दिया।

 

एफआईआर की कापी दो तभी जाएंगे
इस दौरान सीएसपी ने एफआइआर के लिए समय मांगा तो विधायक बोले एफआईआर में समय मांगते हो इसलिए अपराध बढ़ रहे हैं। तीन दिन से मालूम है कि हम एफआइआर दर्ज कराएंगे इसके बाद भी यह स्थिति है। उन्होंने कहा एफआइआर की कापी दे दो तभी जाएंगे। नहीं तो हमें डंडे मारकर भगा दो या लिखकर दे दो कि हम पूर्व मुख्यमंत्री से डरे हुए हैं इसलिए एफआइआर नहीं कर सकते। इस दौरान सीएसपी शर्मा वरिष्ठ अधिकारियों से फोन पर संपर्क करते रहे और डेढ़ घंटे बीत गया।

 

नाराज कांग्रेस के लोग सड़क पर बैठ गए
एफआईआर में देरी होने की स्थिति में नाराज कांग्रेस के लोग कोतवाली के समक्ष मुख्य सड़क पर धरने पर बैठ गए और चक्काजाम कर दिया। इस दौरान पुलिस एवं पूर्व सीएम चौहान के खिलाफ नारेबाजी करते रहे। कलेक्टर एवं एसपी पहुंचे कोतवाली में सीएसपी, एडीश्नल एसपी के बाद कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रमसिंह एवं एसपी विनायक वर्मा भी कोतवाली पहुंचे और विधायक भार्गव से चर्चा की।


विद्युत विभाग की ओर से एफआइआर दर्ज होगी
टीआई कक्ष में हुई इस चर्चा के बाद कलेक्टर सिंह ने पत्रकारों को बताया कि बिजली चोरी वाले मामले में विद्युत विभाग की ओर से एफआइआर दर्ज होगी। वहीं अन्य बिंदुओं पर जांच कराई जाएगी। वहीं विधायक बोले कि एफआइआर के लिए समय मांगा गया है। समय देना उचित भी है। पूर्व मुख्यमंत्री को अगर सजा नहीं दिला पाए तो एफआइआर बेकार जाएगी। उन्होंने कहा कि अधिकारियों ने दो घंटे में एफआइआर घर पहुंचाने का आश्वासन दिया है।