स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इधर से उधर किये गये कई थानेदार, थाना प्रभारी स्तर के थानों पर तैनात थे एसएसआई

Devesh Singh

Publish: Aug 19, 2019 12:17 PM | Updated: Aug 19, 2019 12:17 PM

Varanasi

ताबड़तोड़ क्राइम के बाद पुलिस कप्तान को याद आया नियम, विभाग में मचा है हड़कंप

वाराणसी. पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस में पुलिस विभाग में बीती देर रात हुए ताबड़तोड़ तबादलों से हड़कंप मच गया है। एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने कई थानेदार को इधर से उधर कर दिया है। सबसे बड़ी बात यह है कि जहां पर इंस्पेक्टर स्तर का अधिकारी तैनात होना चाहिए था वहां पर उपनिरीक्षक स्तर के अधिकारी को थाना प्रभारी बनाया गया था।
यह भी पढ़े:-50 पौधे लगाने पर वापस होगी गुंडा एक्ट की नोटिस, एसडीएम प्रशासन ने बताया क्यों दिया ऐसा आदेश



एसएसपी आनंद कुलकर्णी के अनुसार कैंट थाना प्रभारी रहे आशुतोष ओझा को अब सिगरा थाना प्रभारी बनाया है। जबकि सिगरा थाना प्रभारी रहे राजीव रंजन उपाध्याय को भेलूपुर का थाना प्रभारी नियुक्त किया गया। इंस्पेक्टर स्तर के थाने पर थानाध्यक्ष रहे एसआई नागेश सिंह को अब कैंट थाने का एसएसआई नियुक्त किया गया है। इसी क्रम में पुलिस लाइन में रहे अश्वरी कुमार चतुर्वेदी को कैंट थाना का प्रभारी बनाया गया है। फूलपुर थाना के प्रभारी निरीक्षक रहे अजय कुमार श्रोतिया को क्राइम ब्रांच के इन्वेस्टिंग विंग में समायोजित किया गया है। मीडिया सेल के प्रभारी सनवर अली को थाना फूलपुर, क्राइम ब्रांच के इन्वेस्ंिटगेशन विंग के भूपेश कुमार राय को प्रभारी निरीक्षक लक्सा, लंका थाना के निरीक्षक अपराध रहे इन्द्र भूषण यादव को प्रभारी निरीक्षक शिवपुर, पुलिस लाइन से राहुल शुक्ला को प्रभारी निरीक्षक मडुवाडीह, मडुवाडीह एसओ रहे संजय त्रिपाठी को एसएसपी के मीडिया सेल, भेलूपुर के एसएसआई रहे मनोज कुमार को थानाध्यक्ष चौबेपुर, रामाशीष राम को थाना बड़ागांव से थानाध्यक्ष जंसा, थानाध्यक्ष लक्सा रहे अमित कुमार मिश्रा को एसएसआई सिगरा, थानाध्यक्ष जंसा संतोष तिवारी को लाट भैरव चौकी प्रभारी, थानाध्यक्ष चौबेपुर रहे शैलेश कुमार मिश्रा को एसआई लंका के पद पर भेजा गया है।
यह भी पढ़े:-आठ भाषाओं का है जानकार, लोगों का विश्वास जीत कर ऐसे उड़ाता था पैसा



उपर के एक बड़े अधिकारी की सख्ती के बाद तो नहीं हुए परिवर्तन
बनारस जोन के एक बड़े अधिकारी मौजूदा पुलिस व्यवस्था से खुश नहीं थे। थानों में तैनाती को लेकर भी अधिकारियों से चिंता जता चुके थे। बनारस में एक माह में ताबड़तोड़ अपराध हुए हैं, जिसके बाद पुलिस प्रशासन भी बैकफुट पर आ चुका है। पीएम नरेन्द्र मोदी का संसदीय क्षेत्र होने के चलते सीएम योगी आदित्यनाथ भी यहां की पुलिस व्यवस्था पर खास ध्यान देते हैं इसके बाद भी ताबड़तोड़ क्राइम होने से परेशान पुलिस कप्तान ने कार्रवाई का चाबुक चलाया है।
यह भी पढ़े:-तीन करोड़ की हेरोइन के साथ तस्कर गिरफ्तार, पहाड़ों पर होनी थी मादक पदार्थ की सप्लाई