स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पूर्वांचल के बिजली इंजीनियर फिर आंदोलित, बनारस में किया प्रदर्शन

Ajay Chaturvedi

Publish: Oct 22, 2019 16:39 PM | Updated: Oct 22, 2019 16:39 PM

Varanasi

-गाजीपुर के अवर अभियंता पर कार्रवाई का विरोध
-विभागीय आला अफसरों पर उत्पीड़न का आरोप

वाराणसी. पूर्वांचल के बिजली इंजीनियर फिर से आंदोलित हैं। उन्होंने विभागीय आला अफसरों पर उत्पीड़नात्मक कार्रवाई का आरोप लगाया है। कहा है कि इससे मातहतों का मनोबल गिर रहा है।

दरअसल इंजीनियर गाजीपुर में तैनात अवर अभियंता संतोष मौर्य पर हुई कार्रवाई का विरोध कर रहे हैं। उनका आरोप है कि विद्युत चोरी में लिप्त ऐसे लोग जिन पर प्राथमिकी तक दर्ज कराई जा चुकी है की निराधार एवं प्रतिशोधवश शिकायत पर किसी को निलंबित करना उचित नहीं। वह भी एक पक्षीय जांच के आधार पर। कहा कि अधीक्षण अभियंता, गाजीपुर ने एक अवर अभियंता को निलंबित कर दिया जो पूरी तरह से अनुचित है। उन्होंने अवर अभियंता की तत्काल बहाली की मांग की। साथ ही चेताया कि जब तक मांग पूरी नहीं होती वो ध्यानाकर्षण आंदोलन जारी रखेंगे।

भिखारीपुर स्थित पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के चीफ इंजीनियर कार्यालय पर मंगलवार को आयोजित ध्यानाकर्षण आंदोलन में तहत वाराणसी, जौनपुर, गाजीपुर एवं चंदौली से आए समस्त अवर अभियंता, प्रोन्नत अभियंता शामिल हुए। सभी एक स्वर से प्रबंधन की इस अन्यायपूर्ण कार्रवाई का विरोध किया।

सभा को संबोधित करते हुए संगठन के संरक्षक इंजीनियर केदार तिवारी ने कहा कि आज विपरीत परिस्थितियों में भी संगठन के सदस्य क्षेत्रों में अपने कर्तव्यों के निर्वहन के दौरान आए दिन मारपीट, गाली-गलौज, निराधार एवं फर्जी शिकायतों की भेंट चढ रहे हैं। इस विषम परिस्थिति में प्रबंधन के उच्च पदों पर आसीन अधिकारियों से सहयोग एवं संरक्षण की अपेक्षा संगठन को हमेशा रहती है। लेकिन इसके विपरीत अधिकारियों की लगातार उत्पीड़नात्मक कार्रवाई से संगठन के सदस्यों का मनोबल गिरता है। इससे विभागीय कार्य भी प्रभावित होता है। उन्होंने ऐलान किया कि निलंबित अवर अभियंता के तत्काल बहाली तक ध्यानाकर्षण आंदोलन जारी रहेगा।

ध्यानाकर्षण आंदोलन में आई पी सिंह, संजय भारती, प्रदीप कुमार, नीरज कुमार, पंकज कुमार, प्रमोद, निर्भीक भारती, जितेंद्र कुमार, सर्वेश कुमार लाल व्रत, उपेंद्र कुमार, मनीष यादव, मदन गोपाल, गौतम शर्मा, अरविंद कुमार, नागेंद्र सरोज, दीपक अग्रवाल आदि उपस्थित रहे। अध्यक्षता इंजीनियर सर्वेश शुक्ला एवं संचालन इंजीनियर रत्नेश सेठ ने किया।