स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से शुरू हुआ पलायन, लोगों ने कहा कि इस साल चुनाव नहीं है इसलिए कोई नहीं आया

Devesh Singh

Publish: Sep 16, 2019 18:02 PM | Updated: Sep 16, 2019 18:02 PM

Varanasi

घर में ताला बंद कर गांव जाने को हुए विवश, कहा नेता से लेकर समाजसेवी तक मौके पर नहीं आये

वाराणसी. पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस में गंगा व वरुणा में आयी बाढ़ के चलते लोगों का पलायन शुरू हो गया है। दोनों नादियों के जलस्तर में लगातार बढ़ाव जारी है जिसके चलते लोगों ने घरों में ताला बंद कर गांव जाना शुरू कर दिया है। स्थानीय लोगों ने कहा कि पिछले साल भी यहां पर पानी आया था लेकिन उस समय लोकसभा चुनाव था इसलिए बहुत लोग आये थे लेकिन इस बार हमारा हाल जानने कोई नहीं आया।
यह भी पढ़े:-लोगों के घरों में घुसा गंगा व वरुणा का पानी, वार्निंग लेवल पार करने के बाद भी जलस्तर में वृद्धि जारी

बाढ़ का पानी स्थानीय लोगों के लिए भारी दुश्वारियां लेकर आता है एक तो पानी जमा हो जाने से उनका घर से आना-जाना कठिन हो जाता है दूसरी तरफ घर पर ताला बंद करना भी कठिन होता है क्योंकि ऐसे घरों में चोरी का खतरा रहता है इसके बाद भी स्थानीय स्तर पर सहायता नहीं मिलने पर लोगों को अपना घर छोड़ कर जाना पड़ रहा है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने पिछले माह ही गंगा के बढ़े हुए जलस्तर में नौकाविहार कर प्रभावित लोगों को सभी संभव मदद करने का निर्देश दिया था इसके बाद भी बाढ़ प्रभावित सभी क्षेत्रों में अभी तक सहायता नहीं पहुंची है।
यह भी पढ़े:-बनारस के कलाकारों ने गीत गाकर पीएम नरेन्द्र मोदी को जन्मदिन की बधाई दी

जानिए स्थानीय लोगों ने क्या कहा
सामने घाट स्थित मारुति नगर कॉलोनी के निवासी सोमदेव दुबे ने कहा कि यहां पर बाढ़ आयी है और कोई नेता तक मदद के लिए नहीं आया है जिसके चलते हम लोगों को अपने घर बिहार जाना पड़ रहा है। सुनील कुमार दूबे ने बताया कि घर छोड़ कर गांव जाने के लिए विवश है। बाढ़ का पानी भर रहा है यहां पर नाव तक नहीं है। नेता या समाजसेवी तक नहीं है जिससे लोगों की समस्या कम हो सके। पिछले साल भी यहां पर बाढ़ का पानी आया था लेकिन उस साल लोकसभा चुनाव था इसलिए बहुत लोग मदद क लिए आये थे लेकिन इस बार कोई नहीं आया। कृष्णानगर निवासी सिंह ने बताया कि यहां की कई कॉलोनी में बाढ़ का पानी भर गया है जिससे हजारों लोग प्रभावित है इसके बाद भी अभी तक लोगों को किसी तरह की सहायता नहीं मिली।
यह भी पढ़े:-पीएम नरेन्द्र मोदी के लिए बजरंग बली को चढ़ायेंगे डेढ़ किलो का स्वर्ण मुकुट, वजह जानकर रह जायेंगे हैरान