स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

IIT BHU के वार्षिक सांस्कृतिक महोत्सव "काशी यात्रा" की तिथि घोषित

Ajay Chaturvedi

Publish: Sep 22, 2019 20:02 PM | Updated: Sep 22, 2019 20:02 PM

Varanasi

-IIT BHU के छात्र अधिष्ठाता ने लोगो किया लांच
-थीम लॉन्च के मौके पर हुआ सांस्कृति आयोजन

वाराणसी. IIT BHU ने लिमब्डी कॉर्नर पर रविवार शाम 5 बजे संस्था वार्षिक सांस्कृतिक महोत्सव, काशीयात्रा के 38 वें संस्करण की थीम का अनावरण किया गया। इस अवसर पर थीम लांच के साथ ही कुछ सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया, जिसमे गीत संगीत की धुन पर छात्र छात्राएं झूम उठे।

आईआईटी बीएचयू काशी यात्रा का लोगो

इस वर्ष काशीयात्रा का विषय अतीत की सांस्कृतिक गतिविधियों से प्रेरित है। यह वार्षिक आयोजन 17 से 19 जनवरी 2020 के बीच आयोजित किया जाएगा। इसमें देश के मशहूर कलाओं पर समय के साथ हुए विकास पर प्रकाश डाला जाएगा। साथ ही विभिन्न पीढ़ियों पर इसके होने वाले प्रभाव का भी नज़ारा देखने को मिलेगा। पीढ़ी दर पीढ़ी लोगों ने किस प्रकार अपनी कलाकारी से सांस्कृतिक कार्यक्रमों का स्तर बढ़ाया, इसी का उल्लेख काशियात्रा 2020 में किया जाएगा। ‘रेंडिशन ऑफ़ द रेट्रो’ नामक इस थीम का चुनाव करने के पीछे संस्थान का मक़सद इस बात पर ज़ोर डालने का है कि आज भी प्राचीन सांस्कृतिक उत्कृष्ट कृतियां हमारे लिए बेहद अहम हैं।

काशीयात्रा देश के कॉलेज स्तर पर आयोजित सबसे पुराने और सबसे बड़े सांस्कृतिक त्यौहारों में से एक है। तीन दिवसीय उत्सव में संगीत, ललित कला, नृत्य, साहित्यिक कला के क्षेत्र में देश भर से उभरते कलाकारों और कॉलेज के छात्रों की भारी भागीदारी प्रमुख होती है। काशियात्रा में पेशेवर भारतीयों के साथ-साथ विदेशी कलाकार भी प्रदर्शन करने के लिए आते हैं, जो उनकी संस्कृतियों की एक झलक पीछे छोड़ जाते है। थीम लाचिंग के मौके पर छात्र अधिष्ठाता, प्रोफेसर बीएन राय, सांस्कृतिक परिषद के काउंसलर डॉ अमितेश कुमार, काशीयात्रा के संयोजक उत्सव गांधी आदि उपस्थित रहे।