स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

प्राइमरी स्कूल में मिड डे मील बनाते समय गैस लिकेज से लगी आग, पांच झुलसे शिक्षा विभाग में हड़कंप

Ashish Kumar Shukla

Publish: Sep 16, 2019 20:22 PM | Updated: Sep 17, 2019 19:10 PM

Varanasi

चार को इलाज के लिए मंडलीय अस्पताल कबीरचौरा कराया गया दाखिल, बेसिक शिक्षा अधिकारी ने सीएमओ से बातकर जाना हाल

वाराणसी. जिले के शिवपुर इलाके के प्राथमिक विद्यालय करौना में मिड डे मील बनाते समय बड़ा हादसा हो गया। आग लग जाने से रसोइया समेत पांच बच्चे झुलस गये। गंभीर हाल में इलाज के लिए चार को शिवप्रसाद गुप्त मंडलीय चिकित्सालय में दाखिल कराया गया है। एक की हालत सामान्य बताई जा रही है। हादसे के बाबत बेसिक शिक्षा अधिकारी ने वाराणसी के सीएमओ से बात कर घायलों को हाल जाना साथ ही इनके समुचित इलाज के लिए कहा। हादसे में पीड़ितों के दवा का खर्च शिक्षा विभाग वहन करेगा।

घटना के बाबत मिली जानकारी के मुताबिक शिवपुर स्थित प्राथमिक विद्यालय करौना में बच्चों को दोपहर का भोजन देने की तैयारी चल रही थी। मिड डे मील के किचेन में रसोई गैस सिलिंडर के खाना बनाया जा रहा था। तभी सिलिंडर और चूल्हे को जोड़ने वाली पाइप में लीकेज के चलते गैस लीक हुई जिससे यह हादसा हुआ। हालांकि ये अच्छा रहा कि इस विद्यालय पर अग्निशन यंत्र लगा था और वह सही तरीके से काम कर रहा था जिससे आग पर काबू पाया जा सका। अगर वो सही से काम न करता तो कई बच्चों की जान भी जा सकती थी।
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक दुर्घटना में महिला रसोइया व एक अन्य महिला की हालत ज्यादा गंभीर है।

वहीं आंगनबाड़ी केंद्र के दो बच्चे भी झुलस गया है। सभी को समीप के अस्पताल ले जाया गया जहां एक को मामूली जख्म था जिन्हें प्राथमिक उपचार के बाद छोड़ दिया गया। अभी चार को मंडलीय अस्पताल में भर्ती किया गया। अस्पताल में भर्ती जख्मी लोगों में आशू (4 वर्ष) रसोइया कुमारी देवी (40वर्ष), बीना (30वर्ष) और अमरावती देवी (70वर्ष) हैं। कुमारी देवी और विशाल की हालत ज्यादा खराब बताई जा रही है। हालांकि डाक्टरों का कहना है कि जल्द स्थिति पर काबू पा लिया जाएगा।

खर्च वहन करेगा बेसिक शिक्षा विभाग

शिक्षा विभाग के अधिकारी ने बताया कि स्कूल में य़े हादसा हैरान करने वाला है। उन्होने कहा कि जल्द एक मीटिंग कर सभी रसोइयों को इसके लिए जागरूक करना होगा ताकि ऐसे हादसे के बाद स्थिति में नियंत्रण में किया जा सके। हालांकि इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है तकरीबन प्राथमिक विद्यालयों में या तो अग्निशमन नहीं हैं या है भी तो वो सही से काम नहीं करता।

गांव में मचा हाहाकार

घटना के बाद शिवपुर स्थित प्राथमिक विद्यालय करौना में हाहाकार मच गया। बच्चों के अभिभावक आग लगने की जानकारी के बाद ही घर छोड़कर स्कूल जा पहुंचे गांव के प्रधान समेत काफी तादात में सम्मानित लोगों ने सूझबूझ का परिचय देते हुए लोगों को जल्द वहां से अस्पताल पहुंचाने में मदद की।