स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कांग्रेस की डूबती सियासी नैया के खेवनहार बनेंगे गांधी, पार्टी करने जा रही है ये काम...

Ajay Chaturvedi

Publish: Sep 16, 2019 13:59 PM | Updated: Sep 16, 2019 13:59 PM

Varanasi

-2 अक्टूबर से शुरू होगा अभियान
-चलेगा 2022 तक
- सदस्यता की अनिवार्य शर्तलेनी होगी गांधी के सिद्धांतों की शपथ
-गांधी जयंती को कांग्रेस विभिन्न वर्गों के खास लोगों को करेगी सम्मानित

 

डॉ अजय कृष्ण चतुर्वेदी

वाराणसी. पुरानी कहावत है डूबते को तिनके का सहारा, अब इन्हें तिनका तो कहा नहीं जाएगा पर कांग्रेस ने अपनी डूबती नैया के खेवनहार के लिए गांधी को ही बैसाखी बनाने का फैसला किया है। कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक यह फैसला स्वयं पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने किया है। सभी जिलों को इस संबंध में जानकारी दे दी गई है।

नई रणनीति के तहत कांग्रेस 2 अक्टूबर गांधी जयंती को सुबह 8 बजे से पदयात्रा निकालेगी। इस दौरान लोगों को देश के महान सपूतों की जानकारी दी जाएगी। खास तौर पर युवाओं को बताया जाएगा। इसके तहत गांधी के सिद्धांत, गांधी के विचार, उनका दर्शन, गांधी की सामाजिक व्यवस्था के बारे में बताया जाएगा। लोगों को जागरूक किया जाएगा। उसी दिन गांधी विचार मंच के सहयोग से पार्टी विचार गोष्ठी भी आयोजित करेगी। इसमें समाज के हर वर्ग के खास लोगों को उनके सामाजिक कार्यों के प्रति डिवोशन को पैमाना मान कर सम्मानित किया जाएगा। इसमें हर जाति, हर वर्ग, हर संवर्ग के लोग शामिल हैं। कोई डॉक्टर, इंजीनियर, सोशल वर्कर, शिक्षक, छात्र, कर्मचारी, महिला सब शामिल होंगे।

इस संबंध में जिला कांग्रेस कमेटी के निवर्तमान अध्यक्ष प्रजानाथ शर्मा ने पत्रिका को बताया कि यह सारा कार्यक्रम वर्तमान परिदृश्य में जिस तरह से इतिहास को तोड़ने की कोशिश की जा रही है और जिस तरह से युवाओं को गलत इतिहास बता कर या पढा कर गुमराह किया जा रहा है उन्हें सही रास्ते पर लाने के उद्देश्य से एक प्रयास होगा। बताया कि नई पीढी को देश के सही इतिहास की जानकारी देना कांग्रेस जरूरी और अनिवार्य समझती है। इसी उद्देश्य से पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के 75वें जयंती वर्ष में सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता कराई गई। विजेताओं को लैपटॉप, टैबलेट, साइकिल आदि पुरस्कार स्वरूप भेंट किया गया। ऐसे ही 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी के प्रति लोगो को जागरूक करने की एक कोशिश है। ऐसे कार्यक्रम निरंतर जारी रहेंगे।

उन्होंने बताया कि सिर्फ ये ही नहीं अब तो यह भी तय होने जा रहा है कि कांग्रेस के हर सदस्य को गांधी के तीन सिद्धांत, सत्य, अहिंसा और सत्याग्रह की शपथ लेनी होगी। उन्होंने बताया कि अक्टूबर के अंतिम सप्ताह से सदस्यता अभियान शुरू होने जा रहा है जो 2022 तक चलेगा। इस दौरान मैनुवली या पार्टी के एप से सदस्यता के लिए आवेदन किया जा सकेगा। लेकिन सदस्यता तभी मिलेगी जब संबंधित व्यक्ति गांधी के तीन सिद्धांत की शपथ लेगा।

बताया कि हर कांग्रेसी को गांधी जी की एक और सोच पर काम करना होगा। हर कांग्रेसी को खादी धारण करना होगा। खादी को अपना कर पार्टी भविष्य में रोजगार के संसाधन भी खोजेगी। इस पर भी काम चल रहा है।