स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

प्रियंका गांधी को गिरफ्तार करना प्रदेश सरकार का अमानवीय - तानाशाही रवैया

Narendra Awasthi

Publish: Jul 19, 2019 18:53 PM | Updated: Jul 19, 2019 18:53 PM

Unnao

- गिरफ्तारी के खिलाफ कांग्रेसी पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने योगी सरकार का पुतला फूंका

- कांग्रेसी बोले आम आदमी के साथ लूटपाट हत्या आम बात

उन्नाव. सोनभद्र में हुये नर-संहार के पीड़ित परिवार से मिलने के लिये कांग्रेस पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पहुँची तो उन्हें शासन ने पीड़ित परिवारों से मिलने से पहले ही गिरफ्तार कर लिया। इस अमानवीय तानाशाही भाजपा सरकार के रवैये का विरोध करते हुये जिला एवं शहर कांग्रेस कमेटी उन्नाव के कार्यकर्ता एकत्र हुये और शासन के खिलाफ योगी सरकार का पुतला फूंका।

 

अपराधियों को योगी सरकार का संरक्षण

शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अमित शुक्ला ने प्रदर्शन करते हुये कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार की ढिलाई व असंवेदनशीलता की वजह से प्रदेश में अपराधियों के हौसले बुलंद है। आम आदमी के साथ लूटपाट व हत्या आम बात हो गयी है और अपराधी बेखौफ घूम रहे, ऐसा लग रहा है कि इन अपराधियों को योगी सरकार से संरक्षण प्राप्त है।

 

आम आदमी के सुरक्षा के लिए संघर्ष कर रहीं प्रियंका गांधी

उन्होंने कहा कि अत्याचार व नर-संहार के विरोध में आम आदमी की सुरक्षा के लिये संघर्ष करने के लिये तैयार प्रियंका गांधी को जिस प्रकार गिरफ्तार किया गया वह प्रदेश सरकार की निरंकुशता एवं दमनकारी नीतियों के रुप में दिखाई पड़ता है। ऐसी भ्रष्ट सरकार से लड़ने के लिये कांग्रेस पार्टी का एक-एक कार्यकर्ता हर स्तर पर सरकार से संघर्ष करने के लिये तैयार है।

 

प्रदेश पूरी तरह अराजक तत्वों के हाथ में

युवक कांगेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता अंकित परिहार ने अपने वक्तव्य में कहा कि प्रदेश पूरी तरीके से अराजक तत्वों के हाथ में चला गया है, कानून व्यवस्था के कोई मायने नहीं रह गये है, जंगलराज कायम हो गया है। ऐसे जंगली शासन के विरुद्ध प्रियंका गांधी जी के साथ पूरे प्रदेश की एक-एक जनता व कांग्रेस कार्यकर्ता सरकार का विरोध करने के लिये तैयार बैठा है। उक्त प्रदर्शन में वीर प्रताप सिंह, कमल तिवारी, दिनेश शुक्ला, राम किशोर यादव, डा. नेहा पाण्डेय, अवधेश सिंह, अनवर खुर्शीद, कृष्णपाल सिंह यादव, समीर खान, फैज हसन, विजय शंकर त्रिपाठी, यतीन्द्र सिंह, प्रदीप अवस्थी सहित बड़ी संख्या कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद थे।