स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भारतीय किसान यूनियन टिकैत गुट ने घोषणा पर किया अमल तो शिक्षा व्यवस्था हो जाएगी ध्वस्त

Narendra Awasthi

Publish: Oct 17, 2019 19:33 PM | Updated: Oct 17, 2019 19:33 PM

Unnao

- भारतीय किसान यूनियन टिकैत गुट ने घोषणा पर किया अमल तो शिक्षा व्यवस्था हो जाएगी ध्वस्त

महापंचायत में किसानों ने सरकार पर वादा खिलाफी का लगाया आरोप

- एक अक्टूबर से शुरू होना वाला धान क्रय केंद्र अभी तक नहीं बना जमीनी हकीकत

 

- जानवरों को प्राथमिक स्कूल में बंद करने की चेतावनी

उन्नाव. सरकार ने वादा किया था की एक अक्टूबर 2019 से धान की खरीद शुरू हो जाएगी। लेकिन अभी तक ना ही क्रय केंद्र खुले हैं और ना ही गेहूं खरीद खरीद की कोई व्यवस्था की गई है। किसान खुलेआम बाजार में औने पौने दामों पर धान बेचने को मजबूर है। किसानों के सामने कई सारी समस्याएं हैं। उन समस्याओं को निपटने के लिए किसान यूनियन के कार्यकर्ता संघर्ष करेंगे सरकार ने घोषणा कर दी है। भारतीय किसान यूनियन टिकैत गुड के मंडल अध्यक्ष हरि नाम वर्मा ने बिछिया विकासखंड में आयोजित महापंचायत को संबोधित करते हुए उक्त विचार व्यक्त किया। उन्होंनेे कहा कि गन्ना किसान परेशान है। पिछला भुगतान अभी तक नहीं दिया गया है। जबकि कई बार किसान गन्ना मूल्य भुगतान की मांग कर चुके हैं। उन्होंने शीघ्र ही गन्ना का भुगतान कराए जाने की मांंग की। किसानों की समस्याओं को गंभीरता से उठाया।

 

बार-बार लिखने के बाद भी प्रशासन मौन

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष डॉक्टर शैलेंद्र प्रताप सिंह यादव ने कहा कि जनपद में आवारा जानवरों द्वारा किसानों की फसलों का नुकसान पहुंचाया जा रहा है। शासन प्रशासन को बार-बार लिखकर दिया जा रहा है। लेकिन प्रशासन मौन है। किसान परेशान है। यदि प्रशासन व शासन द्वारा कारगर कदम नहीं उठाया गया तो भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ता गांव के प्राथमिक विद्यालयों में जानवर भरने का कार्य करेंगे। जिसकी सारी जिम्मेदारी शासन व प्रशासन की होगी। इस मौके पर मंडल सचिव आशीष यादव, अंबरीश वर्मा, ठाकुर प्रसाद, सौरभ सिंह, किरण सिंह चौहान, ममता राजपूत सिंह सेंगर, निर्मल सिंह, बिंदा प्रसाद, गंगा कृष्ण आदि सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।