स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आंत के संक्रमण से बचाने खिलाई जाएगी यह दवा

Ramashankar mishra

Publish: Jul 19, 2019 12:06 PM | Updated: Jul 19, 2019 12:06 PM

Umaria

जिले में ढाई लाख बच्चों को दवा खिलाने का लक्ष्य

उमरिया. आगामी 8 अगस्त को मध्यप्रदेश राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस का आयोजन किया जाएगा। जिसका उद्देश्य एक साल से 19 साल तक के सभी लडके लडकियों को आंत के संक्रमण से मुक्ति दिलाना है। कार्यक्रम का आयोजन व्यवस्थित तरीके से किया जाए । जिले से लेकर जनपद, संकुल, तथा शाला स्तर तक शिक्षकों, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं, एएनएम , आशा कार्यकर्ता आदि को प्रशिक्षण देकर जिम्मेदारी सौंपी जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रत्येक बच्चा को दवाई की खुराक आवश्यक रूप से मिल जाए। इस आशय के निर्देश अपर कलेक्टर बी के पाण्डेय ने कलेक्ट्रेट सभागार में मध्यप्रदेश राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के आयोजन के संबंध में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही। बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा राजेश श्रीवास्तव , सहायक आयुक्त आनंद राय सिन्हां, सिविल सर्जन बी के प्रजापति, डा रोशनी चौधरी, डीपीएम प्राजीत कौर , चिकित्सक , बीपीएम एवं उनका स्टाफ उपस्थित रहा। सीएमएचओ डा राजेश श्रीवास्तव ने बताया कि कृमि का प्रसार अस्वच्छता , संक्रमित मिट्टी के संपर्क में आने से होता है। कृमि तीन प्रकार की होती है। हुक कृमि, व्हिप कृमि तथा राउण्ड कृमि ये कृमि खुले में शौच, बच्चो के संक्रमण तथा नंगे पैर चलने एवं गंदे हाथो से खाना खाने से फैलते है। 8 अगस्त को एक साथ शालाओ तथा आंगनबाडी केन्द्रों में कृमिनाशक दवाईयां 1 से 19 वर्ष तक के बच्चों को खिलाई जाएगी। जिसका माकअप कार्यक्रम 16 अगस्त को संचालित किया जाएगा। जिसमें छूटे हुए बच्चों को दवा खिलाई जाएगी। डीपीएम प्राजीत कौर ने पावर प्वाइंट प्रजेन्टेशन के माध्यम से बताया कि कृमि संक्रमण से एनीमिया, कुपोषण, बच्चो के वृद्धि मे कमीं तथा विटामिन ए की कमी हो जाती है। जिससे बच्चे बीमार या थके हुए दिखाई देते है और वे पढाई पर ध्यान नही दे पाते।