स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कलेक्टर ने अधिकारियों से कहा गुणवत्ताहीन काम बर्दाश्त नहीं करूंगा

Ramashankar mishra

Publish: Jul 19, 2019 11:55 AM | Updated: Jul 19, 2019 11:55 AM

Umaria

जिला मुख्यालय का भ्रमण कर साफ-सफाई व नाली निर्माण के दिए निर्देश

उमरिया. कलेक्टर स्वरोचिश सोमवंशी ने परियोजना अधिकारी शहरी विकास अभिकरण एवं डिप्टी कलेक्टर अनुराग सिंह, मुख्य नगर पालिका अधिकारी एस के गढपले तथा नगर पालिका के तकनीकी अमले के साथ जिला मुख्यालय का भ्रमण किया। कलेक्टर ने शहर के मुख्य मार्गो का निरीक्षण करते हुए उत्कृष्ट विद्यालय के सामने मरम्मत कार्य, यातायात थाना के सामने बन रहे पार्क , खलेशर मोहल्ले के विभिन्न मार्गो , निर्माणाधीन पानी टँकी, उमरार डेम स्थित बन रहे प्लांट व सिंगलटोला में निर्माणाधीन पानी टंकी का निरीक्षण किया । उन्होने वहां मौजूद अधिकारियों व ठेकेदार को गुणवत्तापूर्ण शीघ्र निर्माण कार्य पूर्ण किये जाने के सख्त निर्देश दिए। इसके अलावा सिंगलटोला में नाली निर्माण पर आनेवाली बधाओ पर चर्चा कर नाली निर्माण की बात कही। उन्होंने कलेक्ट्रेट के सामने बन रहे फुटपाथ पर लगायें गए ठेला टपरों को हटाए जाने सीएमओ नपा को कहा। कलेक्टर ने मुख्य नगर पालिका अधिकारी को निर्देशित किया कि शहर में जिन स्थानों पर नाली टूट फूट गई है उनकी मरम्मत की जाए तथा जहां पानी निकासी की समस्या है वहां नई नाली निर्माण कराई जाए। पुराने बस स्टैण्ड स्थित नेकी की दीवार के सामने नालियो की मरम्मत के भी निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने नगरवासियो से नगर के विकास के संबंध में चर्चा की तथा निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने 15 दिनों के अंतराल में नगर के सामुदायिक भवन में प्रशासनिक अधिकारियों की उपस्थिति में बैठक का आयोजन कर उनसे रूबरू होने की बात कही । जिससे शहरवासियों के सुझाव व समस्याओं से अवगत हो सके और समयानुसार शहर में और अच्छा कार्य किया जा सके। कलेक्टर ने शहर की क्षतिग्रस्त नालियों की मरम्मत व साफ सफाई के भी निर्देश नगर पालिका को दिये। नपा उपयंत्री देवल सिंह ने शुद्ध पेय जलापूर्ति के सम्बंध में बताया कि नगर की पेयजल प्रदाय योजना स्वीकृत है रेल्वे से अनुमति नही मिलने के कारण पाइप लाइन का विस्तार नही हो पा रहा है। जिस पर कलेक्टर ने उक्त कार्य हेतु तत्काल अपने स्तर पर रेल्वे के संबंधित अधिकारी से दूरभाष पर बात कर शीघ्र निराकरण की बात कही।