स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

महाकाल दर्शन करने कार से आए श्रद्धालु ने रात १ बजे ऐसा किया...सब बर्बाद हो गया

Jitendra Singh Chouhan

Publish: Sep 20, 2019 07:00 AM | Updated: Sep 19, 2019 21:54 PM

Ujjain

सिंधी कॉलोनी तिराहे पर पान की दुकान में घुसी कार, चालक घायल, 100 की स्पीड में चला रहे थे वाहन

 

 

उज्जैन. सांवेर रोड पर सिंधी कॉलोनी तिराहे के पास पान की दुकान में बुधवार रात एक बजे के करीब एक कार घुस गई। गनीमत रही कि दुकान बंद थी इसके कारण कोई जनहानि नहीं हुई। हालांकि घटना में चालक घायल हो गया।

माधवनगर पुलिस के मुताबिक सिंधी कॉलोनी तिराहे पर नारायणपुरा निवासी धर्मेंद्र पिता मदनलाल जाटवा की धर्मेंद्र पान सदन नाम से दुकान है। रात १ बजे के करीब कार क्रमांक यूपी २२ वाय ६९८८ का चालक लापरवाही व तेज गति से गाड़ी चलाते हुए दुकान में घुस गया। कार के टकराने से दुकान पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। दुकान संचालक धर्मेंद्र का कहना है कि घटना में दुकान के शो-केस, टीवी व बोर्ड सहित सब कुछ टूट गया। धर्मेंद्र के अनुसार कार चलाने वाले उत्तरप्रदेश के थे। यह महाकाल दर्शन करने आए थे और सभी ने शराब पी रखी थी। बताया जा रहा है कि ९०-१०० की गति में कार चल रही थी कि अचानक चालक का संतुलन बिगड़ गया और कार दुकान में घुस गई। अगर रात में कार कोई अन्य वाहन या राहगीर से टकराती तो लोगों की जान चली जाती। माधवनगर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की है।
ऋषिनगर में वृद्धा के गले से बदमाशों ने खींचा मंगलसूत्र
उज्जैन. ऋषिनगर में बाइक सवार बदमाश एक बुजुर्ग महिला के गले से सोने का मंगलसूत्र झपटकर भाग गए। माधवनगर पुलिस के अनुसार घटना गुरुवार दोपहर १२.३० बजे के करीब की है। एफ १/३० ऋषिनगर निवासी चंपादेवी जैन (५९) घर के बाहर आए सब्जी वाले से सब्जी खरीदने गई थी। जब ठेले वाले से सब्जी खरीदकर जैसे ही घर के लिए लौटी तो बाइक पर आए दो बदमाश उनके गले में सोने का मंगलसूत्र झपट कर भाग गए। महिला कुछ समझती तब तक दोनों बदमाश एक गली में मुड़कर गायब हो गए। महिला के पति पारसचंद्र जैन का कहना है कि सबकुछ बहुत तेजी से हुआ। अचानक से बदमाशों ने उनकी पत्नी के गले से मंगलसूत्र छीना और तेज रफ्तार गाड़ी से चले गए। उनकी पत्नी बदमाशों को ठीक तरह से देख भी नहीं पाई। बाद में माधवनगर पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाई।