स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

उज्जैन में गुंडों का आतंक, जब-तब कारे फोड़ते तो घरों पर करते पथराव

Jitendra Singh Chouhan

Publish: Sep 20, 2019 07:00 AM | Updated: Sep 19, 2019 21:39 PM

Ujjain

परवाना नगर में 20 से 22 युवकों ने दो घंटे मचाया उत्पात, युवक को पीटा, जान बचाने घरों में छिपे लोग, सूचना के बाद भी मौके पर नहीं पहुंची पुलिस

 

उज्जैन. परवाना नगर में बुधवार रात २०-२२ बदमाशों ने जमकर उत्पात मचाया। नशे में धुत बदमाशों ने सड़क पर खड़ी कारों के कांच फोड़े। लोगों ने विरोध किया तो उन पर तलवार व लोहे के डंडे लेकर मारने दौड़े और घरों पर पथराव किया। वहीं रास्ते में पानी-पताशे के ठेले तोड़े तो एक युवक के घर पर पथराव किया। स्थिति यह रही कि डेढ़-दो घंटे तक क्षेत्र में उपद्रव होता रहा लेकिन रहवासियों के सूचना के बाद भी पुलिस नहीं पहुंचे। वहीं डरे-सहमे रहवासियों ने पुलिस को सीसीटीवी फुटेज देकर बदमाशों की पहचान करवाई।
नीलगंगा थाना क्षेत्र स्थित परवाना नगर में बदमाशों ने रात ११ बजे से लेकर १२.३० तक उत्पात मचाया। क्षेत्र में रेलवे अधिकारी विकास मालवीय ने बताया कि शुरुआत में ७-८ युवक नशे में धुत होकर उनकी कॉलोनी में आए। पहले उन्होंने मेरी कार के साथ एक अन्य कार के कांच फोड़े। आवाज सुनकर आसपास के रहवासी बाहर आए तो सभी चले गए। करीब आधे-पौन घंटे बाद २०-२२ की संख्या में युवक आए। इनके पास तलवार, लोहे का डंडा व पत्थर थे। इन्होंने पहले तो लोगों को अपशब्द बोले और फिर तलवार व डंडे से मारने दौड़े। लोग जान बचाने घर में छिप गए। इस पर युवकों ने पत्थर बरसाना शुरू कर दिया। इस दौरान रहवासियों ने डायल १०० को फोन भी किया लेकिन पुलिस समय पर नहीं आई। मालवीय के मुताबिक पथराव से उनका भतीजा आयुष मालवीय व कॉलोनी के दो-तीन लोगों को चोट भी आई। रात करीब एक बजे पुलिस आई तब तक बदमाश चले गए थे। रहवासियों ने कॉलोनी में लगे सीसीटीवी फुटेज पुलिस को दिखाए। जिस पर बदमाशों की पहचान हुई। नीलगंगा पुलिस ने फुटेज के आधार पर रितिक बसोड़, टीना, विकास साडिया उर्फ कुक्की, अभिषेक उर्फ भुज्जी पिता चौखे लाल, हर्ष धानक पिता हरिश धानक, रवि पिता अम्मू साडिय़ा व १५-२० अन्य के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया।

क्षेत्र में दहशत फैलाने किया उपद्रव
परवाना नगर के रहवासियों का कहना है कि बदमाशों ने किसी दुश्मनी चलते वाहनों मेें तोडफ़ोड़ नहीं की है। कॉलोनी के पीछे ही एकता नगर, गांधी नगर है। बदमाश इन्हीं कॉलोनी के रहने वाले हंै। क्षेत्र में दहशत फैलाने के लिए इन्होंने तोडफ़ोड़ की और लोगों पर हमला किया। बता दें कि परवाना नगर में अधिकांश रहवासी रेलवे व अन्य सरकारी महकमों में काम करने वाले हैं।

गांधी नगर में पथराव, बाइक फोड़ी
परवाना नगर में गदर के बाद बदमाशों ने गांधी नगर निवासी सोना पिता राजेंद्र सूर्यवंशी के घर पथराव कर बाहर खड़ी मोटरसाइकिल में तोडफ़ोड़ की। नीलगंगा पुलिस ने इस मामले में पुराने झगड़े को लेकर रिपोर्ट दर्ज की। इसमें हरीश धानक, हर्ष धानक एवं दो अन्य के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है।

बयान

परवाना नगर में उत्पात मचाने वाले बदमाशों की पहचान हो गई है। इनके खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है। जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

- संजय मंडलोई, थाना प्रभारी, नीलगंगा