स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दिव्यांग विद्यार्थियों के लिए खराब उपकरण

Shailesh Vyas

Publish: Aug 19, 2019 23:28 PM | Updated: Aug 19, 2019 23:27 PM

Ujjain

बच्चों को प्रदान करने थे १५ अगस्त के बाद सुविधा के लिए इंतजार। वितरण के लिए शिविर की तारीख तय नहींं।

उज्जैन. दिव्यांग विद्यार्थियों के लिए सप्लाय किए गए अधिकांश उपकरण खराब निकले हैं। आपत्ति और शिकायतों के बाद इन उपकरणों को लौटा दिया गया है। इधर वितरण के लिए तारीख तय नहीं होने से दिव्यांग विद्यार्थियों को उपकरणों की सुविधा के लिए इंतजार करना होगा। जिले के सरकारी स्कूलों में अध्ययनरत दिव्यांग विद्यार्थियों के लिए खराब गुणवत्ता के जंग लगे टूटे-फूटे सहायक उपकरण भेज दिए गए थे। ज्यादातर उपकरणों में मैन्यूफेक्चरिंग डिफेक्ट था, कुछ में जंग लग गई हैं। सीट कवर आदि फटे निकले थे। मामला संज्ञान में आने पर डीपीसी ने इस पर आपत्ति लेकर खराब उपकरण लौटाने के निर्देश देकर गुणवत्ता वाला सामान मुहैया कराने को कहा है। 400 विद्यार्थियों को मिलना है सहायक उपकरण जिले के शासकीय स्कूलों में तकरीबन 3 हजार से अधिक विद्यार्थी दिव्यांग हैं। इनका छह माह पहले चिकित्सकीय परीक्षण कराया गया था। इसमें करीब 400 विद्यार्थियों का चयन सहायक उपकरण मुहैया कराने के लिए किया गया था। मांग के आधार पर राज्य शिक्षा केंद्र ने एलिम्को कंपनी के माध्यम से विकासखंडवार वीलचेयर, कैलिपर्स, ट्राइसिकल, मोबिलिटी केन आदि उपकरण प्रदाय किए थे।

खराब क्वालिटी

प्रारंभिक जांच में यह उपकरण खराब क्वालिटी के पाए गए। सभी विकासखंड स्तरीय अधिकारियों ने डीपीसी को इसकी शिकायत की। शिकायत के बाद राज्य शिक्षा केंद्र को स्थिति से अवगत कराया गया है। डीपीसी की शिकायत पर सभी खराब उपकरण वापस कर दिए गए हैं। अब देखना है यह उपकरण कब बदलकर कंपनी जिला शिक्षा केंद्र को उपलब्ध कराती है।
इनका कहना
उपकरणों की गुणवत्ता में कमी थी। कुछ टूटे-फूटे भी मिले। इनको वापस कर दिया गया है। फ्रेश स्टॉक मुहैया कराने के लिए राज्य शिक्षा केंद्र आयुक्त और एलिम्को कंपनी को पत्र लिखा है। शिविर के माध्यम से उपकरणों का वितरण किया जाएगा। इसके लिए अभी तारीख तय नहीं हुई है।
-पीएस सोलंकी, जिला परियोजना समन्वयक उज्जैन।