स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आकर्षक रहा इस कार्यशाला का अंदाज: अंकों व अक्षरों से बच्चों ने सीखा चित्र बनाना

Sushil Kumar Singh Chauhan

Publish: Sep 22, 2019 06:00 AM | Updated: Sep 22, 2019 03:02 AM

Udaipur

अग्रेसन सलीला संस्था की ओर से हुआ आयोजन

उदयपुर. कलाएं जीवन को रसपूर्ण बनाक सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करती हैं। यहां कुआं प्यासे के पास चलकर आया है। सलीला संस्थान की ओर से कुछ ऐसे ही आयोजनों के माध्यम से बच्चों में नए संस्कार जगाने की असीम कोशिश हो रही है। इसमें चांद मोहम्मद घोसी सरीखे विश्व प्रसिद्ध चित्रकार ने अंको तथा हिंदी एवं अंग्रेजी के अक्षरों से चित्र बनाने का सकूबा बच्चों के बीच पेश किया। कार्यक्रम के दौरान नगर पािलका अध्यक्ष राजेश्वरी शर्मा ने ये विचार बच्चों की लेखन कार्यशाला के उद्घाटन सत्र में बतौर अतिथि व्यक्त किए।
एक दिवसीय कार्यशाला में सरकारी एवं गैर सरकारी 5 विद्यालयों के 110 विद्यार्थियों ने भागीदारी निभाई। बच्चों को प्रशिक्षण देना तथा उनको साहित्य एवं ललित कला तथा लेखन से जोडऩा, राष्ट्रीय जिम्मेदार नागरिक बनाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया गया। संस्था अध्यक्ष डॉ विमला भंडारी ने कहा कि संस्था निरंतर इस प्रयास में लगी हुई है। कार्यशाला में छात्र.छात्राओं को प्रशिक्षण उपरांत संपन्न हुई अक्षरों से चित्र बनाने की प्रतियोगिता में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय सलूंबर के कमलेश भोई कक्षा 8 ने प्रथम, स्कॉलर इंटरनेशनल स्कूल से कक्षा ६ की सोनू कंवर ने द्वितीय एवं कक्षा ८वीं की आयुषी जैन ने तीसरा स्थान बनाया। सम्मेलन के दौरान इन विजेताओं को मंच के माध्यम से सम्मानित किया जाएगा।

आकर्षक रही प्रस्तुतियां
कार्यशाला में राउमावि सेमाल के राजू पटेल, दिनेश पटेल, आशीष पटेल, लोकेश पटेल, राहुल सेन बच्चों ने अध्यापक शांतिलाल शर्मा के कुशल निर्देशन में तैयार नाटिका 'हम भी है धरती के बेट...नाटक की प्रस्तुति दी। मंच एवं उपस्थित दर्शक दीर्घा ने मुक्त कंठ से सराहना की। राजेंद्र प्रसाद जोशी ने बाल गीत बाल एवं कविताओं को पेश किया। डॉ पंकज वीरवाल तथा धर्मेश शर्मा ने देशभक्ति से ओतप्रोत गीतों की प्रस्तुति से समा बांधा।शंकरलाल पांडे, प्रकाश वैष्णव ने कार्यक्रम को सफल बनाने में सहयोग किया। डॉ इंदू गुप्ता, पुष्पा जैन के सान्निध्य में विद्यार्थियों ने आवश्यक पेशगी दी।