स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Watch : करंट से झुलसा कर्मचारी, संगठन ने किया प्रदर्शन

dhirendra joshi

Publish: Sep 20, 2019 07:00 AM | Updated: Sep 19, 2019 22:42 PM

Udaipur

- 60 साल पुरानी मशीनों से चला रहे हैं काम

Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India धीरेंद्र् कुमार जोशी/उदयपुर . जलदाय विभाग के कर्मचारी प्रतिदिन मौत के साये में काम कर रहे हैं। पुरानी मशीनों के कारण आए दिन हादसे हो रहे हैं। गुरुवार सुबह भी गुलाबबाग स्थित फिल्टर प्लांट में हादसा होने के बाद कर्मचारियों ने विरोध प्रदर्शन कर अपनी पीड़ा व्यक्त की।

गुलाबबाग स्थित फिल्टर प्लांट ( Water Filter Plant ) में पुरानी और खराब हो चुकी ओसीबी को चालू करते समय धमाके के साथ करंट लगने से मोहनलाल पालीवाल के सिर के बाल और एक हाथ झुलस गया। पास ही खड़े अन्य कर्मचारी त्रिमूर्ति को भी करंट का झटका लगा। पालीवाल को चिकित्सालय ले जाया गया, जहां उपचार के बाद उन्हें घर पर आराम की सलाह दी गई।

कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन
जलदाय विभाग के कर्मचारियों के पंप हाउस पर प्रदर्शन की सूचना पर एक्सईएन प्रथम संजय श्रीवास्तव मौके पर पहुंचे। उन्होंने फिल्टर प्लांट का दौरा कर कर्मचारियों की समस्याओं को सुना और जल्द ही समाधान का आश्वासन दिया। इस अवसर पर तुफैल अहमद, केसरसिंह, सहित जलदाय के कई कर्मचारी मौजूद थे।

स्मार्ट सिटी के नाम पर चला रहे काम

जलदाय कर्मचारी संघ (भामस) के जिला महामंत्री प्रकाशचंद्र माथुर ने बताया कि प्लांट पर लगी मशीनें करीब 60 वर्ष पुरानी हैं जिनकी बार-बार मरम्मत पर इतनी राशि खर्च कर दी गई जिससे नया पंप लगाया जा सकता है। उन्होंने बताया कि हर बार शिकायत करने पर अधिकारी स्मार्ट सिटी में काम करवाने का कहकर मांग को टाल देते हैं। इधर, करीब 5 से 6 कर्मचारियों को करंट लग चुका है।

पम्प हाउस का बजट रंगाई-पुताई पर खर्च
मंत्रालयिक कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष संतोष भटनागर ने आरोप लगाया कि राज्य सरकार की ओर से दो वर्ष पूर्व 80 लाख रुपए इस पंप हाउस के लिए जारी हुए थे जिससे रंगाई-पुताई, खिड़कियां-दरवाजे लगाने का काम हुआ। मशीनरी बदलने की ओर किसी अधिकारी ने ध्यान नहीं दिया।

दो दिन पूर्व भी लगा करंट

कर्मचारी किशोर ने बताया कि जीओ की सेंटिंग बार-बार बिगड़ जाती है। दो दिन पूर्व जब जीओ काम नहीं कर रहा था तो इसको बांस से हिलाने गया तो करंट आ गया। 11क ेवी लाइन को चालू करने के लिए जैसे-तैसे जीओ को हिलाकर सप्लाई शुरू की।

वर्सन...
कर्मचारियों की समस्या को सुना और विद्युत निगम में फोन कर दिया है। वहां से कर्मचारी आकर जीओ और ओसीबी को दुरुस्त करेंगे। अन्य समस्याओं के लिए भी सहायक अभियंता को प्रस्ताव भिजवाने के निर्देश दिए हैं। जल्द ही ये समस्याएं भी दूर होंगी।

- संजय श्रीवास्तव, अधिशासी अभियंता प्रथम, जलदाय विभाग