स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

गाड़ी कितना भी धुआं फेंके, सर्टिफिकेट सब ओके

Mohammed Iliyas

Publish: Oct 20, 2019 06:00 AM | Updated: Oct 19, 2019 23:42 PM

Udaipur

गाड़ी कितना भी धुआं फेंके, सर्टिफिकेट सब ओके

मोहम्मद इलियास/उदयपुर
बिना गाड़ी ही वाहनों के फर्जी सर्टिफिकेट जारी करने पर परिवहन विभाग ने उदयपुर व राजसमंद में दो चलती फिरती वैन को जब्त किया। वैन संचालकों के पास सर्टिफिकेट जारी करने के लाइसेंस तो थे लेकिन वे बिना गाड़ी ही दनादन फर्जी प्रमाण पत्र दे रहे थे।
फर्जी तरीके से दिए जा रहे सर्टिफिकेट के संबंध में जयपुर मुख्यालय स्थित परिवहन विभाग कार्यालय में शिकायत मिली थी। अधिकारियों ने इस संबंध में जांच की तो प्रदेश में संचालित अधिकांश प्रमाण पत्रों में गड़बडिय़ां मिली। संचालक कम्प्यूटर व लेपटॉप में फर्जी सॉफ्टवेयर डाउनलोड कर प्रमाण पत्र जारी कर रहे थे। जांच करने पर कई वाहनों के प्रमाण पत्रों के एक जैसे परिणाम सामने आए। शासन सचिव, परिवहन आयुक्त राजेश यादव ने इस पर प्रदेश के समस्त जिला परिवहन अधिकारियों को आकस्मिक छापामार कार्रवाई के आदेश दिए थे। आदेश पर उदयपुर व राजसमंद की टीम ने दो वैन जब्त की। प्रदेश के अन्य जिलों में करीब 55 से अधिक वेन व दुकानों पर यह कार्रवाई की गई।
--
रेती स्टेण्ड पर पकड़ा वैन को
मुख्यालय से आदेश के बाद जिला परिवहन अधिकारी डॉ.कल्पना शर्मा के नेतृत्व में परिवहन निरीक्षक विपिन माहेश्वरी, सब इंस्पेक्टर प्रदीप व मनीष ने सविना रेतीस्टेण्ड पर भागीरथ मोबाइल पीयूसी सेन्टर के नाम से संचालित चलती फिरती वैन को जब्त किया। वेन में पेट्रोल-डीजल की दो मशीनों के साथ ही कम्प्यूटर में अटैच किया हुआ था। कम्प्यूटर में लोड सोफ्टवेयर के जरिए फर्जी प्रमाण पत्र जारी किए जा रहे थे। इसी तरह राजसमंद में जिला परिवहन अधिकारी अनिल पण्ड्या के नेतृत्व में टीम ने वहां भी एक वैन को जब्त किया। टीम अब तक वैन संचालकों की ओर से जारी किए गए प्रमाण पत्रों को मिलान करेगी। संचालकों ने यह सॉफ्टवेयर कहां से डाउनलोड किया, बिना गाड़ी कितने फर्जी सर्टिफिकेट बनाए गए। मानक क्षमता में सही दिखाने के लिए आरोपियों ने सॉफ्टवेयर में क्या हेराफेरी की, इस संबंध में जांच के बाद उनके विरुद्ध थानों में मामले दर्ज करवाए जाएगें।
--
सात दिन में मुख्यालय को देनी होगी सूचना
जयपुर मुख्यालय ने समस्त जिला परिवहन अधिकारियों को जांच कर सात दिन में रिपोर्ट मांगी है। साथ ही डीटीओ को चेताया कि ऐसे वाहनों व दुकानों के निरीक्षण नहीं करने पर या अनियमितता बरतने पर वे स्वयं जिम्मेदार होंगे तथा उनके विरुद्ध विभागीय कार्रवाई की जाएगी।
--
कार्रवाई के निर्देश
मुख्यालय के आदेश के बाद जिला परिवहन अधिकारियों को आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए। उदयपुर व राजसमंद जिला परिवहन अधिकारियों की टीम ने दो वैन जब्त की है। वैन संचालक फर्जी सोफ्टवेयर से गलत प्रमाण पत्र जारी कर रहे थे। इनके विरुद्ध आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।
प्रकाश सिंह राठौड़, प्रादेशिक परिवहन अधिकारी