स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अरे चलेंगे कहां वाहन, नए वाहनों की बुकिंग ने बढ़ाई परेशानी

Mohammed Iliyas

Publish: Oct 21, 2019 13:52 PM | Updated: Oct 21, 2019 13:52 PM

Udaipur

अरे चलेंगे कहां वाहन, नए वाहनों की बुकिंग ने बढ़ाई परेशानी

मोहम्मद इलियास/उदयपुर
शहर में न तो सडक़ की लम्बाई बढ़ी न चौड़ाई, न पार्र्किंग स्थल तय हुए न ही कागजों में बने प्लाईओवर पर कोई काम हुआ। ऐसी स्थिती में वाहनों के बोझ के तले सडक़ दब गई। कोई सडक़ ऐसी नहीं बची जहां एक पल बे्रक लगने के बाद लम्बा जाम न लगता हो। स्थिति तो तब और बिगड़ती है जब यातायात नियमों की पालना के दौरान धरपकड़ होते ही पलभर में वाहनों की लम्बी कतारे लग जाती है। बढ़ते इन वाहनों के बीच अभी त्योहारी सीजन में लगातार वाहनों की खरीद अभी और हालत खराब करेगी। चिंता है कि आखिर आने वाले नए वाहन चलेंगे कहां। पिछले महज सात दिन के नए वाहनों के आरसी के आंकड़ों पर नजर डाले तो 4 हजार नए वाहन पंजीकृत किए गए। इनमें महज दो दिनों में नए 1300 वाहनों की आरसी बनी। दीपावली तक इन वाहनों की संख्या 20 से 25 हजार के बीच जाएंगी। इनमें दुपहिया के साथ ही चार पहिया हल्के वाहन भी शामिल है।परिवहन विभाग के आंकड़ों के अनुसार पूरे जिले में करीब 6 लाख वाहन पंजीकृत है। नए वाहन और जुडऩे से इनकी संख्या में और इजाफा होगा। रिकॉर्ड के अलावा जिले में अवधि पार भी सैकड़ों वाहन दौड़ रहे है। धरपकड़ के अभाव में इनकी संख्या भी काफी है। कुछ लोग पुराने वाहनों को मोह नहीं छोड़ उन्हें रजिस्ट्रेशन नवीनीकरण के बिना ही दौड़ा रहे है तो कुछ लोगों पुराने वाहन ही लकी है लेकिन ये वाहन पुन: रजिस्ट्रेशन नहीं होने से रिकॉर्ड से बाहर है लेकिन लगातार सडक़ों पर दबाव में इनका भी बड़ा योगयान है।
--
धनतेरस तक और बढ़ेंगे वाहन
दीपावली सीजन में वाहनों की बिक्री अभी जोरों पर चल रही है। परिवहन विभाग में प्रतिदिन आने वाले 400 नए आरसी के मुकाबले पिछले दो दिनों में 700 से 800 आरसी नई बनाई गई। दीपावली तक यह संख्या और बढ़ेगी। परिवहन विभाग के अधिकारियों ने रजिस्ट्रेशन के लिए छुट्टियों में भी यह काम कर अतिरिक्त स्टॉफ लगाया है। अधिकारियों का कहना है कि दीपावली से पहले धनतेरस तक नए वाहनों की रजिस्टे्रशन का काम और बढ़ेगा।
--
जिले में 6 लाख है वाहन
उदयपुर जिले में वाहन की कुल संख्या- 5 लाख 73 हजार 770
दुपहिया वाहन. 4 लाख 40 हजार 767
बिना हेलमेट दुर्घटना से मौत- 15 से 20 प्रतिमाह
घायल- 300
--
प्रतिदिन आरसी बनती है- 300 से 400
सात दिन में बन रही है- 500 से ऊपर
दो दिन में बनने वाली आरसी- 700 से 800