स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

चित्रों को पर्यटकों सहित कला प्रेमियों ने भी खूब सराहा

Surendra Singh Rao

Publish: Jan 23, 2020 02:21 AM | Updated: Jan 23, 2020 02:21 AM

Udaipur

उदयपुर सीन एण्ड अन सीन प्रदर्शनी सम्पन्न

उदयपुर . महाराणा मेवाड़ चेरिटेबल फाउण्डेशन के सौजन्य से माणक चौक, सिटी पैलेस के शिल्प सभागार में 13 जनवरी से चल रही डॉ. हिरोशी शिमजाकी की स्केच प्रदर्शनी का समापन बुधवार को हुआ।
फाउण्डेशन ट्रस्टी लक्ष्यराजसिंह मेवाड़ ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस दौरान सेवानिवृत्त भूविज्ञानी प्रो. पुष्पेन्द्र सिंह राणावत, फाउण्डेशन के उप सचिव डॉ. मयंक गुप्ता, एचआरएच गु्रप के अनुविक्रम सिंह राणावत व अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे। गौरतलब है कि प्रदर्शनी में लगे शहर के प्रमुख ऐतिहासिक व भौगोलिक स्थलों के स्केच चित्रों को देश-विदेश से आने वाले पर्यटकों सहित कला प्रेमियों ने भी खूब सराहा।
बता दें, उदयपुर में प्रदर्शनी लगाने वाले डॉ. हिरोशी शिमजाकी ने भारतीय चित्रकला में अपनी शोध यात्रा 1976 में बद्रीनाथ से आरम्भ की थी। इससे पूर्व उन्होंने कई उपमहाद्वीपों की यात्रा कर उनके स्केच तैयार किए।

युगधारा का प्रतिष्ठित मुक्ता लक्ष्मी स्मृति सम्मान इस बार डॉ. निर्मल गर्ग को साहित्य एवं दर्शन शास्त्र में उनके समग्र साहित्यिक अवदान पर युगधारा के 29 वें स्थापना दिवस पर 29 जनवरी को प्रदान किया जाएगा। इस अवसर पर नगर के वरिष्ठ कवि एवं गीतकार भवानीशंकर गौड़ की पुस्तक 'आओ चांद सितारों खेलेंÓ काव्य संग्रह का विमोचन भी होगा।

[MORE_ADVERTISE1]