स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

वीडियो में देखे कांग्रेस पार्षद की 'दबंगई', घुमाया हथौड़ा

Mukesh Hingar

Publish: Jan 17, 2020 14:28 PM | Updated: Jan 17, 2020 14:34 PM

Udaipur

नगर निगम की टीम लौटी बेरंग

मुकेश हिंगड़ / उदयपुर. सूरजपोल क्षेत्र में अस्थाई अतिक्रमण हटाने गए नगर निगम के दस्ते को पार्षद की दबंगई झेलनी पड़ी। पार्षद स्वयं को गरीबों का मसीहा बन अतिक्रमण टीम के साथ अभद्रता की। हथौड़ा घूमाते हुए जब्त किए गए सभी सामान को मौके पर ही खाली कर दिया। गहमागहमी के माहौल के बीच नगर निगम की टीम असहाय नजर आई। निगम की टीम ने दोपहर को अस्थल मंदिर से सूरजपोल क्षेत्र में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू करते हुए सडक़ सीमा में पड़े सामान व ठेलों को जब्त कर ट्रेक्टर ट्रॉली में लोड किया। टीम जब्त सामान को लेकर निगम जाने ही वाली थी कि उसी समय क्षेत्रीय पार्षद गौरव प्रताप सिंह मौके पर पहुंच। वह टीम के साथ अभद्रता करते हुए ट्रॉली में चढ़ गया और कुछ ही मिनटों में ट्रॉली से ठेले व सामान को खाली कर नीचे डाल दिया, जिसका सामान था वे लोग लेकर भी निकल गए।

घूमाया हथौड़ा, की अभद्रता
पार्षद ने अतिक्रमण दस्ते को देखकर अपना आपा खो बैठा। उसने अधिकारियों-कर्मचारियों की एक नहीं सुनी, उनके बोलने मात्र पर ही वह गरीबों का मसीहा बन ठेले वालों को नोटिस देने व कार्रवाई की उसे जानकारी नहीं देने की बात कहते हुए अपशब्द कहने लगा। टीम ने जब उसे रोकने का प्रयास किया तो उसने ट्रॉली में चढ़ाए गए सभी सामान को नीचे गिरा दिया, निगम का ही हथौड़ा हाथ में लेकर टीम के सामने घूमाया।

दबंगई का हुआ वीडियो वायरल
पार्षद द्वारा की गई दबंगई का लोग तमाशा बन देखते रहे। जिन लोगों का सामान जब्त हुआ था उन लोगों ने तालियां बजाकर पार्षद के पक्ष में नारेबाजी भी की। कोई उसकी दंबगाई पर कटाक्ष भी करता रहा, कई लोगों ने उसका वीडियो बनाकर हाथों हाथ सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। टीम के निगम कार्यालय में बेरंग लौटने से पहले यह वीडियो पूरे शहर में वायरल होकर चर्चा का विषय बन गया। लोगों ने इस पर कई अच्छे-बुरे कमेंट भी किए।

राजकार्य में मुकदमें की फाइल चली पर...
इधर, अतिक्रमण टीम की ओर से शाम को पूरी घटना की जानकारी नोट शीट पर दी गई। साथ ही उसमें कहा गया कि राजकार्य का मामला दर्ज होना चाहिए। सूत्रों के अनुसार राजस्व सेक्शन से फाइल आयुक्त के पास चली भी गई लेकिन निगम ने रात तक पुलिस को कोई रिपोर्ट नहीं दी। पूर्व में विवि मार्ग पर भी कुछ लोगों ने कार्रवाई में बाधा की तो निगम ने रिपोर्ट पुलिस को दी थी।

जनता भी निंदा करें ऐसे कृत्य की : महापौर

यह गलत किया है जो ठीक नहीं है, हमने कानूनी कार्रवाई के लिए रिपोर्ट तैयार की है। जनता को भी ऐसे कृत्यों की निंदा करनी चाहिए और शहर के विकास व सुंदरता के प्रयास में सहयोग देना चाहिए।
- गोविंद सिंह टांक, महापौर

आयुक्त बोले, कार्रवाई नहीं की

अतिक्रमण की कार्रवाई के लिए गई टीम के साथ जो कुछ हुआ है उसको लेकर अभी तक हमने कोई कार्रवाई नहीं की है।
- अंकित कुमार सिंह, आयुक्त नगर निगम

कांग्रेस अध्यक्ष पार्षद पर मौन

प्रशासन को जनता पूरी प्लानिंग से कार्रवाई करनी चाहिए, बिना नोटिस दिए लाइसेंस प्राप्त ठेले को हटाना ठीक नहीं है। पार्षद को लेकर मै पूरी बात करुंगा, अभी कुछ नहीं कह सकता हूं।
- गोपाल शर्मा, शहर अध्यक्ष कांग्रेस

टीम रोजी-रोटी छीन रही थी : पार्षद

निगम सिर्फ गरीबों के खिलाफ ही कार्रवाई करती है, उनके क्षेत्र में यह कार्रवाई करनी थी तो पहले मुझे सूचित करना चाहिए था। जनता सर्वोपरी है, उन्हें बिना नोटिस दिए ही निगम ने उनकी रोजी-रोटी छिनने का प्रयास किया। लाइसेंस होने के बाद भी टीम ने ठेले व सामान नहीं छोड़े तो मजबूरन मुझे सामान खाली कराना पड़ा। मैने कोई अभद्रता नहीं की और न कानून तोड़ा।
- गौरव प्रताप सिंह, पार्षद वार्ड 50

[MORE_ADVERTISE1]