स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

VIDEO : गिरिजा व्यास - लेकसिटी में टूटी सडक़ों से लोग पहुंच रहे अस्पताल, भाजपा वाले जश्न मना रहे

Mukesh Hingar

Publish: Sep 17, 2019 08:00 AM | Updated: Sep 16, 2019 23:01 PM

Udaipur

नगर निगम के खिलाफ कांग्रेस का धरना

उदयपुर . शहर की टूटी सडक़ों से त्रस्त शहरवासियों के दर्द लेकर सोमवार को कांग्रेस ने नगर निगम के बाहर धरना देकर महापौर से लेकर भाजपा बोर्ड पर आरोप-प्रत्यारोप लगाए। पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ. गिरिजा व्यास ने कहा कि शहर के लोग भ्रष्टाचार से उखड़ी सडक़ों से सीधे अस्पताल पहुंच रही है और भाजपा वाले रजत जयंती के नाम पर जश्न मना रहे हैं। उन्होंने कहा कि सडक़ों के निर्माण में हुए भ्रष्टाचार की बारिश ने पोल खोल कर रख दी है। भाजपा बोर्ड अपनी इन कमियों को स्वीकार करने के लिए तैयार ही नहीं है, उलटे जनता की गाढ़ी कमाई से महापौर भाजपा बोर्ड के 25 वर्षों का जश्न मना रहे हैं। गिरिजा ने सीधे आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा बोर्ड जश्न, समारोह और झुमलों का बोर्ड बनकर रह गया है। भाजपा के पार्षद शहर की खराब हालत को देख रहे हैं, परन्तु राजनीतिक धर्म निभाने के कारण कोई विरोध में बोलने को तैयार नहीं है।

धरने में डीसीसी के 126 में से मात्र 30 पदाधिकारी आए

धरने में शहर कांग्रेस कमेटी (डीसीसी) के १२६ में से मात्र ३० पदाधिकारी शामिल हुए। पदाधिकारियों ने सडक़ों से जनता के दर्द को सामने रखते हुए नगर निगम के भाजपा बोर्ड व महापौर को निशाने पर लिया। धरने को पूर्व विधायक त्रिलोक पूर्बिया, सज्जन कटारा, पंकज कुमार शर्मा, अरुण टाक, विवेक कटारा, दीपक मेवाड़ा, नजमा मेवाफरोश, भरत आमेटा, राशिद खान, मोहम्मद अयूब, शंकर चन्देल, राजेश खत्री, प्रवक्ता फिरोज अहमद शेख, विनोद जैन आदि ने सम्बोधित किया।

पीसीसी प्रतिनिधि व ब्लॉक अध्यक्ष नहीं आए
धरने में शहर कांग्रेस के कई वरिष्ठ पदाधिकारी नहीं आए। साथ ही प्रदेश कांग्रेस में प्रतिनिधित्व करने वाले पीसीसी सचिव नीलिमा सुखाडिय़ा, पीसीसी सदस्य सुरेश श्रीमाली, दिनेश श्रीमाली, राजकुमार श्रीमाली, नगर निगम के नेता प्रतिपक्ष मोहसिन खान, दोनों ब्लॉक अध्यक्ष पूरण मेनारिया व फतहसिंह राठौड़ तक धरने में शामिल नहीं हुए।