स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

चोरी के चार पैसों की चाहत

Surendra Singh Rao

Publish: Nov 17, 2019 17:58 PM | Updated: Nov 17, 2019 17:58 PM

Udaipur

कॉपर व ऑयल के लिए की चोरियां
चोरी के आरोपी भाइयों ने सर्वाधिक ट्रांसफार्मर चुरा निगम को पहुंचाया नुकसान


उदयपुर. चोरों के लिए भले ही एक विद्युत ट्रांसफार्मर की चोरी चार पैसों की चाहत हो लेकिन यह विद्युत निगम को भारी चपत लगा देती है। हाल ही में सुखेर थाने में पकड़े गए चोरी के दो आरोपी भाइयों ने अब तक सर्वाधिक ट्रांसफार्मर की चोरियों करते हुए निगम को काफी नुकसान पहुंचाया। पूछताछ में इन आरोपियों अब तक 25 से 30 ट्रंासफार्मर को विद्युत लाइन को फाल्ट कर चुराना स्वीकार किया। इन ट्रांसफार्मरों से आरोपियों ने कॉपर, एल्युमिनियम व ऑयल निकालकर कबाडि़यों व फैक्ट्रियों में बेचा। सुखेर थाना पुलिस ने शुक्रवार को कालीमगरी निवासी फतहसिंह पुत्र भंवरसिंह देवड़ा उसके भाई अर्जुनसिंह सहित पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया। आरोपियों ने उदयपुर शहर, उदयपुर ग्रामीण व राजसमंद इलाके में 48 चोरी की वारदातें स्वीकार की। इनमें सर्वाधिक वारदातों ट्रांसफार्मर की है।
150 रुपए किलो बेचते हैं कॉपर
विद्युत निगम के अधिकारियों का कहना है कि चोर ट्रांसफार्मर से मिनरल ऑयल, कॉपर व एल्यूमिनियम निकालते हैं। सर्वाधिक कॉपर सिंगल फेस ट्रांसफार्मर में तथा थ्री फेस ट्रांसफार्मर में एल्युमिनियम होता है। एक ट्रांसफार्मर में करीब सौ लीटर ऑयल होता है, उसमें से चोर करीब 50 से60 लीटर ही निकाल पाते हैं। आरोपियों का कहना है कि ट्रांसफार्मर में निकलने वाला कॉपर बाजार में 350 से400 रुपए प्रतिकिलो में बिकता है। चोरी का माल वे 150 से 200 रुपए बेचते हैं। इसमें निकलने वाला ऑयल फैक्ट्रियों में औने-पौने दामों में ही दे देते हंै। कुछ लोग इस ऑयल को औषधि के रूप में भी काम में लेते हैं।

[MORE_ADVERTISE1]