स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बेटी घर से फोटोकॉपी कराने को कहकर न‍िकली और नहीं लौटी, पुल‍िस से सच सुनकर ख‍िसक गई मां-बाप के पैरों तले जमीन

Madhulika Singh

Publish: Aug 14, 2019 13:39 PM | Updated: Aug 14, 2019 13:39 PM

Udaipur

नाबालिग से बलात्कार Rape With Minor के आरोपी को 20 वर्ष की कैद

उदयपुर . नाबालिग के साथ बलात्कार Rape With Minor के मामले में न्यायालय ने आरोपी को 20 वर्ष के कठोर कारावास की सजा सुनाई।

पीडि़ता के पिता ने कुराबड़ थाने में रिपोर्ट दी कि 23 नवम्बर 2015 को उसकी 13 वर्ष की पुत्री घर से मम्मी को राशन कार्ड की फोटोकॉपी करवाने का कहकर निकली जो शाम तक नहीं लौटी। दूसरे दिन गांव का ही दिनेश पटेल फोटोकॉपी व कागज गांव घर दे गया और पुत्री के खेत जाना बताया। काफी दिन तलाश के बाद पुत्री नहीं मिली। मामला दर्ज होने पर पुलिस ने तफ्तीश की तो पता चला कि पीडि़ता के घर के आसपास जगत कुराबड़ निवासी पप्पूदास उर्फ शांतिदास पुत्र नारायणदास वैष्णव घूमता रहता था जो उसे ले जा सकता है। पुलिस ने जांच के बाद आरोपी को पकड़ते हुए पीडि़ता को बरामद किया। बयानों में पीडि़ता ने बलात्कार का आरोप लगाया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर उसके विरुद्ध न्यायालय में आरोप पत्र पेश किया। सुनवाई के दौरान विशिष्ट लोक अभियोजक चेतनपुरी गोस्वामी ने आवश्यक साक्ष्य व दस्तावेज पेश किए। आरोप सिद्ध होने पर पोक्सो एक्ट क्रम-1 के पीठासीन अधिकारी सतीश कुमार ने आरोपी को धारा 363 व 366 में तीन-तीन वर्ष कठोर कारावास व तीन-तीन हजार तथा धारा 42 लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम-2012 के अन्तर्गत आरोपी को 376 (3) के तहत 20 वर्ष के कठोर कारावास और 10 हजार जुर्माने की सजा सुनाई।