स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सावन में रिमझिम

Surendra Singh Rao

Publish: Jul 21, 2019 01:26 AM | Updated: Jul 21, 2019 01:26 AM

Udaipur

उमस से राहत

उदयपुर धरियावद . क्षेत्र में उमस एवं तपिश के बीच शनिवार दोपहर मौसम में बदलाव देखने को मिला। तेज हवाओं के बीच आसमान काली घटाओं से घिर आया, बाद में रिमझिम फुहारों से वातावरण में ठंडक घुल गईं।
कानोड़ . अच्छी बारिश की आस में शनिवार का दिन भी किसानों को खूब तपा गया। हालांकि, दिन में हुई हल्की बूंदाबांदी ने कुछ देर के लिए मौसम सुहाना बना दिया। इधर, ग्राम पंचायत कालीभीत में तेज हवाओं के साथ बरसात आने से किसानों के चेहरे खिले-खिले दिखे। तेज हवाओं से कई जगह पे टूट कर गिर गए, जिससे कुछ देर के लिए आवागमन बाधित भी हुआ।
लसाडिय़ा . उपखण्ड मुख्यालय पर शनिवार को तेज हवा के साथ मध्यम दर्जे की बरसात हुई। जिससे मुरझाई मक्का, सोयाबीन, उड़द, ज्वार आदि फसलों को जीवनदान मिला। इसी तरह, आसपास क्षेत्र के टटाकिया, कालीभीत, भरेव, लकुाकालेवा, धामनिया, घाटा, ओवरा, अगड़, आंजनी आदि गांवों में भी बरसात के समाचार हैं।
सेमारी . कस्बे सहित आसपास क्षेत्र में दिनभर उमस से बेहाल ग्रामीणों को ठंडी हवा के साथ हुई बारिश से राहत मिली वहीं हल्की बरसात से ही बिजली गुल हो जाने से लोग परेशान रहे।
मेनार.आखिर 15 दिनों के लम्बे इंतजार के बाद सावन की पहली फुहार शनिवार देर शाम ग्रामीण अंचल में हुई। मेनार कस्बे में शनिवार शाम अचानक बदले मौसम के बाद तेज ठंडी हवाएं चली। बादलों की गर्जना के साथ बदले मौसम के बाद हल्की बारिश शुरू हुई। इसे पूर्व दिनभर बादल छाये रहे। मेनार कस्बे सहित अमरपुरा खालसा, बामणिया, बांसड़ा, भोपाखेड़ा, कुन्थवास, खेड़ली और केदारिया में भी शाम को हल्की बारिश हुई।
मौसम का बदला मिजाज
सलूम्बर . नगर एव आसपास क्षेत्र में शनिवार दोहपर बाद आसमान में बादल छाने के बाद देर शाम हल्की बारिश होने पर किसानों में खुशी की लहर दौड़ गई। आकाश में उमड़ते-घुमड़ते बादलों से दिनभर उमस के बाद हल्की फुहारों ने मौसम का मिजाज ही बदल दिया। पिछले एक पखवाड़े से चिंतित किसानों में आशा की किरण जाग उठी।
पखवाड़े बाद दी दस्तक
बड़ावली . क्षेत्र में पखवाड़े के बाद इन्द देव ने दस्तक दी। शनिवार को करीब पांच बजे हवाओं, आकाशीय बिजली और बादलों की आवाजाही के साथ बारिश हुई। जिससे सड़कों पर पानी बहने लगा, और धरती पुत्रों के चेहरे खिल उठे। इसी तरह टांण्डा, मल्लाड़ा, ढाणी, मीणवाड़ा, एथड़ा, गोपालपुर, सीपुर, नोली, इंटाली, डगार, बरोड़ा, राताखेत आदि में भी फुहारें पड़ी।
झाड़ोल. उपखण्ड मुख्यालय समेत आस पास के गांवों में शनिवार को ३ बजे बारिश हुई। घासा. गांव सहित आसपास के क्षेत्र में शनिवार को आधे घंटे मध्यम से तेज बारिश हुई। जिससे फसलों को जीवनदान मिला। हालांकि बारिश के साथ हवा चलने से ज्वार की फसलें आड़ी पड़ गई। रख्यावल, नूरड़ा, मांगथला, वीरधोलिया आदि गांवों में भी बारिश के समाचार है।
बूंदाबांदी से मौसम हुआ सुहाना
भीण्डर . उदयपुर जिले के कस्बे में शनिवार को सावन माह मे पहली बार हल्की बूंदाबांदी हुई। बता दें, पिछले 2 सप्ताह से बारिश नहीं होने से नगरवासियों को गर्मी की मार झेलनी पड़ रही थी। एेसे में मक्के की बुवाई कर चुके किसान बारिश का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। हल्की बारिश से किसानों को थोड़ी राहत मिली।
खेरोदा . कस्बे सहित आसपास के क्षेत्र में दस दिन बाद आकाश में बादल छाए। दिन भर तेज उमस से लोग बेहाल रहे। शाम ढलने के साथ ही तेज हवा के साथ बंूदाबांदी हुई, जिससे मौसम ठंडा हो गया।
खिले किसानों के चेहरे
मावली (निप्र). कस्बे सहित क्षेत्र में शनिवार शाम सावन की पहली बारिश हुई। लगभग 10 मिनिट चली बूंदाबांदी के दौर में सड़कें गीली हो गई और क्षेत्रभर के किसानों के चेहरे खिल उठे।
कोटड़ा . उपखंड क्षेत्र के बाशिंदों को शनिवार के दिन क्षेत्र में पड़ रही भारी उमस से निजात नही मिलीए बीते कई दिनों से क्षेत्र में पड़ रही भीषण गर्मी व देह झुलसा देने वाली धूप के बाद शनिवार दोपहर बाद आसमान में छाई घनघोर घटाओं के कारण क्षेत्र के लोगों के मन में गर्मी से राहत मिलने के साथ ही खेत मे सूखने के कगार पर पहुंच चुकी फसलों को नया जीवन मिलने की आस तो जगी।
बंबोरा. क्षेत्र में एक पखवाड़े से अधिक समय बाद शनिवार शाम को रिमझिम बारिश हुई। कुछ जगहों पर तेज तो कहीं हल्की बारिश हुई। बारिश से मुरझाती फसलों को लाभ होने की संभावना है।