स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

हाइकोर्ट बैंच के साथ सभी सर्विस ट्रिब्यूनल के लिए होगा आंदोलन

pankaj vaishnav

Publish: Jan 25, 2020 02:00 AM | Updated: Jan 25, 2020 02:00 AM

Udaipur

बार एसोसिएशन व हाइकोर्ट बेंच संघर्ष समिति की बैठक

उदयपुर . राजस्थान उच्च न्यायालय की खंडपीठ के साथ उदयपुर में सभी प्रकार के सर्विस ट्रिब्यूनल की खंडपीठ भी उदयपुर में लाने के लिए प्रयास होंगे। इसके लिए सांसदों के माध्यम से केंद्र सरकार पर दबाव बनाया जाएगा।

यह निर्णय राजस्थान उच्च न्यायालय की खंडपीठ की स्थापना को लेकर बनाई गई उदयपुर हाइकोर्ट बैंच संघर्ष समिति के संयोजक रमेश नंदवाना की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई बैठक में लिया गया। बार एसोसिएशन के नव निर्वाचित अध्यक्ष मनीष शर्मा भी मौजूद रहे। सर्वसम्मति से उदयपुर में हाइकोर्ट बैंच की स्थापना को लेकर संभाग के सभी सांसदों के मार्फत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह एवं विधि मंत्री से मिलकर केंद्र को उदयपुर की मांग के बारे में बताने का निर्णय लिया गया। इसके अलावा राजस्थान सरकार के जिम्मेदार मंत्रियों से मिलकर उदयपुर में सभी प्रकार के सर्विस ट्रिब्यूनल की बेंच स्थापित करने के लिए नए सिरे से प्रयास शुरू करने का निर्णय लिया गया और इसके लिए प्रारंभिक चरण में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट से मुलाकात करना भी तय हुआ। आगामी समय में दो अलग-अलग संबंध में समितियां बनाई जाएंगी, जो केंद्र व राज्य सरकार के आलाकमान से मिलने का समय तय करेगी।

सभी जिला स्तर पर हाइकोर्ट बैंच संघर्ष समिति के जिला संयोजक की भी नियुक्ति की जाने का निर्णय हुआ। संयोजक नंदवाना, महासचिव रामकृपा शर्मा, जिला संयोजक सत्येंद्र पाल सिंह छाबड़ा, बार अध्यक्ष मनीष शर्मा, महासचिव चक्रवर्ती सिंह राव, पूर्व अध्यक्ष शांतिलाल चपलोत, शांतिलाल पामेचा, शंभूसिंह राठौड़, फतेहलाल नागौरी, भरत वैष्णव, भरत जोशी, अरुण व्यास, मोहम्मद शरीफ छीपा, कमलेश दानी, राकेश मोगरा, पूर्व महासचिव लोकेश मेनारिया, हरीश पालीवाल, यादवेंद्र सिंह भाटी ने विचार रखे।
बैठक में बार एसोसिएशन उपाध्यक्ष नीलाक्ष दिवेदी, सचिव राजेश शर्मा, वित्त सचिव पृथ्वीराज तेली, पुस्तकालय सचिव धीरज व्यास, सहव्रत सदस्य महेंद्रसिंह चारण, जयराज सिंह चौहान, लोकेश बाबेल मौजूद रहे।

[MORE_ADVERTISE1]