स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

महापौर, सभापति व चेयरमैन की लॉटरी को लेकर ये बड़ी खबर

Mukesh Hingar

Publish: Aug 18, 2019 20:06 PM | Updated: Aug 18, 2019 20:06 PM

Udaipur

सोशल मीडिया पर 19 अगस्त को लॉटरी निकलने का कार्यक्रम वायरल

मुकेश हिंगड़ / उदयपुर. आगामी महीनों में प्रदेश में होने वाले नगर निकायों के चुनाव को लेकर सोशल मीडिया पर रविवार को चले एक संदेश ने राजनीतिक दलों के बीच चर्चा बढ़ा दी। सोशल मीडिया पर निकाय प्रमुखों के आरक्षण की लॉटरी निकालने का कार्यक्रम दे दिया गया जबकि असल में ऐसा कोई कार्यक्रम सरकार ने तय ही नहीं किया। यह वायरल संदेश गलत है। सोशल मीडिया पर एक संदेश वायरल हो रहा था जिसमें अंकित था कि नगर निगम के महापौर, नगर प परिषद सभापति से लेकर नगर पालिका के चेयरमैन के पद किस वर्ग के लिए आरक्षित होगा इसकी लॉटरी 19 अगस्त को जयपुर में स्थानीय निकाय विभाग (डीएलबी) में निकाली जाएगी। इस संदेश के सोशल मीडिया पर कई ग्रुपों में वायरल होने के बाद राजनीतिक दलों व चुनाव लडऩे की तैयारियां करने वालों की धडक़ने तेज हो गई। सब यह भी पता करने लगे कि लॉटरी की पूर्व सूचना नहीं मिली, राजनीतिक दल के नेता जयपुर में प्रदेश संगठन तक सम्पर्क कर चुके।

डीएलबी डायरेक्टर बोले गलत संदेश है
इस बारे में पत्रिका ने डीएलबी डायरेक्टर उज्जवल राठौड़ से पूछा तो वे बोले कि जो भी वायरल हुआ है वह गलत है, उन्होंने कहा कि अभी लॉटरी निकालने का कोई कार्यक्रम तय ही नहीं हुआ है।

चुनाव की तैयारियां शुरू
वैसे नगर निकायों के चुनाव की तैयारियां शुरू हो चुकी है। वार्ड पुनर्गठन की प्रक्रिया अभी चल रही है, राजपत्र में प्रकाशन के बाद अगली तैयारी की जाएगी। वैसे बताते है कि इसी महीने या सितंबर के पहले सप्ताह में निकाय प्रमुखों की लॉटरी निकाली जा सकती है, इसके साथ-साथ वार्डोँ की लॉटरी भी निकाली जाएगी। वार्ड पुनर्गठन की प्रक्रिया के साथ-साथ भाजपा व कांग्रेस ने भी तैयारियां शुरू कर दी है। उदयपुर में भाजपा ने जोर दिया है कि वे 55 से 70 हुए वार्डों में भी पूरी ताकत से जीतेंगे तो कांग्रेस ने कहा कि इस बार प्रत्याशियों के चयन में पूरी मेहनत की जाएगी ताकि जीत उदयपुर में कांग्रेस को मिले।