स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कटारिया ने साधा गहलोत सरकार पर निशाना, प्रदेश में अपराध-भ्रष्टाचार का बोलबाला, विकास के काम ठप

Madhulika Singh

Publish: Dec 09, 2019 13:50 PM | Updated: Dec 09, 2019 13:50 PM

Udaipur

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष Gulabchand Kataria गुलाबचंद कटारिया ने मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि एक साल में प्रदेश का विकास ठप पड़ा

उदयपुर. प्रदेश में CM Ashok Gehlot गहलोत सरकार का इसी माह एक साल पूरा होने वाला है। इसे लेकर भाजपा ने कांग्रेस सरकार के खिलाफ आरोप पत्र जारी कर विभिन्न मुद्दों पर घेरना शुरू कर दिया है। पार्टी कार्यालय में रविवार को विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष Gulabchand Kataria गुलाबचंद कटारिया ने मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि एक साल में प्रदेश का विकास ठप पड़ा है। जनता के कल्याण से जुड़ी योजनाओं को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया। भामाशाह योजना का पैसा जारी नहीं किया जा रहा है, जिससे कई अस्पतालों ने इलाज करना बंद कर दिया। केन्द्र की आयुष्मान योजना, किसानों के लिए सम्मान निधि योजना को रिस्पोंस नहीं दिया जा रहा है। एक साल में 20 प्रतिशत विकास के काम हो जाने चाहिए लेकिन ये आपस में अपनी कुर्सी बचाने में लगे रहे। पंचायतीराज में हमारी सरकार ने पढ़े लिखे जनप्रतिनिधियों के चुनाव को अनिवार्य किया, लेकिन इन्होंने फिर से अनपढ़ प्रत्याशी चुनाव लडऩे का निणर्य लिया जो इनकी मंशा को दर्शाता है। कटारिया ने कहा कि प्रदेश में 44 प्रतिशत अपराध का ग्राफ बढ़ गया है। महिला अपराध में 68 प्रतिशत, जबकि आर्थिक और भ्रष्टाचार के मामले में हम एक नम्बर पर आ गए है। यह शर्म की बात है। उन्होंने कहा कि जो वादे नौजवानों से किए वे पूरे नहीं हो रहे।

कटारिया ने कहा कि सरकार अपने सरपंच- प्रधान बनाने के लिए नियमों को तोड़ मरोडकऱ कुछ भी कर सकती है। इनकी नीयत ठीक नहीं है। यह वार्डपंचों से भी अंगूठा छाप सरपंच का निर्वाचन करवा दे। उन्होंने आरोप लगाया कि एक साल के कार्यकाल में गहलोत सरकार हर मोर्चे पर फेल साबित हुई है।

[MORE_ADVERTISE1]