स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

राजकीय सम्मान से जवान का अंतिम संस्कार

Surendra Singh Rao

Publish: Jan 25, 2020 01:53 AM | Updated: Jan 25, 2020 01:54 AM

Udaipur

उदयपुर जिले के लूणदा में है पैतृक गांव

उदयपुर. लूणदा. जालोर जिले के ऊण ग्राम पंचायत में सरपंच व वार्डपंच चुनाव के दौरान ड्यूटी पर तैनात एमबीसी जवान हिम्मत सिंह कृष्णावत की गुरुवार अलसुबह कार्बाइन से गोली लगने से मौके पर ही मौत हो गई थी। इसके बाद प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में जालोर जिला अस्पताल में मेडिकल बोर्ड द्वारा पोस्टमार्टम किया गया। पुलिस जवानों की ओर से से पुलिस लाइन जालोर में राजकीय सम्मान देकर मृतक जवान का पार्थिव शरीर परिजनों को सुपुर्द किया गया। इसके बाद परिजन उदयपुर जिले में पैतृक गांव लूणदा के पीथलपुरा हवेली पहुंचे जहां पर शुक्रवार क ो गोमती तट स्थित केरेश्वर महादेव में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। हिम्मत सिंह कृष्णावत के सरकार के राजकीय सेवा में सिर्फ ११ माह ही नौकरी के शेष बचे थे। हिम्मत सिंह का दिसम्बर २०२० में सेवानृवत होना था। राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार: शुक्रवार को जवान के पैतृक गंाव में अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया गया । इस दौरान जवानों ने पांच राउंड फायर कर सलामी दी। जिसके बाद ध्वज तिरंगे में लिपटाया गया। अधिकारियों की ओर से से पुष्प अर्पित किए गए। इस दौरान उदयपुर ग्रामीण एडिशनल एसपी अताऊरहमान, आइपीएस सीओ वल्लभनगर हिकिता बंसल,कानोड़ थनाधिकारी श्रवण कुमार जोशी, एमबीसी सीइओ सहित सलामी जवानों की मौजूदगी में राजक ीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। इधर, वल्लभनगर के पूर्व विधायक रणधीर सिंह भीण्डर, कानोड़ तहसीलदार रामनिवास मीणा, कानोड़ नगरपालिका उपाध्यक्ष नरेन्द्र कुमार बाबेल भी अंतिम संस्कार में शामिल होने पहुचे जहां उन्होनें पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित किए।

[MORE_ADVERTISE1]