स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इस बार दीपावली पर दीपक फैलाएगा महंगा उजियारा

Pramod Kumar Soni

Publish: Oct 20, 2019 13:06 PM | Updated: Oct 20, 2019 13:06 PM

Udaipur

इस बार दीपावली पर दीपक फैलाएगा महंगा उजियारा

प्रमोद सोनी / उदयपुर. रोशनी के पर्व दीपावली पर इस वर्ष मिट्टी के दीयों का उजियारा महंगा होगा। रोशनी के पर्व दिवाली के लिए कुम्हार परिवार मिट्टी के दीये व बर्तन बनाने में जुट जाता है। वह दीपावली से पहले लाखों की संख्या में दीपक बनाता है लेकिन इस बार दीपक कम मात्रा में ही बना पाए है। कुम्हारवाड़ा निवासी ललित प्रजापत ने बताया कि इस बार लम्बे समय तक बारिश होने से दीपक कम ही बने हैं। कुम्हार परिवार हर वर्ष लाखों की संख्या में दीपक बनाते हैं लेकिन इस बार नवरात्र तक बारिश होने से दीपक कम ही बन पाए है। वही शहर के बाहर से मिट्टी लानी पड़ती है वहा भी पानी ज्यादा होने से मिट्टी नही आ पाई।कुम्हारों का भट्टा निवासी हरिओम प्रजापत ने बताया कि नवरात्रा के समय दीये बन जाते हैं, लेकिन इसबार दीपक देरी से बन पाए वही महंगाई भी बढ़ गई है। उनका कहना है कि मावली के समीप घासा, डिंगरक्या व आसपास के छोटे बड़े तालाबों से मिट्टी लानी पड़ती है। वहां से मिट्टी का एक ट्रैक्टर ७००० रुपए करीब का आता है। वही दीयों को पकाने में जो सामग्री काम आती है वह भी बारिश के कारण महंगी हो गई है। इसमें कोयला भी शामिल है। जो कोयला पहले ४ हजार रुपए टन था वह अब साढ़े पांच हजार रुपए के करीब है। वहीं लकड़ी का बुरादा जो १ रुपए किलो था वह बारिश के कारण इस बार ४ रुपए किलो हो गया है। कंड़े भी एक रुपए से बढ़कर दो रुपए हो गए हैं। नवरात्रा तक बारिश होने से धूप नही खिलने से दीये कम मात्रा में बने हैं। जितनी शहर की मांग है उससे काफी कम मात्रा में दीपक कम बन पाए है।यह रहेगा भाव इस बार मिट्टी के दीपक का भाव थोक में ८०० के हजार रहेगा। वही रिटेल में १० रुपए में ६ दीपक ही मिलेंगे।