स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एमबीसी जवान की अपनी ही बंंदूक की गोली लगने से मौत के बाद राजकीय सम्मान से हुआ अंतिम संस्कार

Madhulika Singh

Publish: Jan 24, 2020 14:33 PM | Updated: Jan 24, 2020 14:33 PM

Udaipur

चुनाव के दौरान ड्यूूटी पर तैनात राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार

लूणदा. जालोर जिले के अति संवेदनशील ऊण ग्राम पंचायत में सरपंच व वार्डपंच चुनाव के दौरान ड्यूूटी पर तैनात एमबीसी जवान हिम्मत सिंह कृष्णावत की गुरूवार अलसुबह कार्बाइन से गोली लगने से मौके पर ही मौत हो गई थी जिसके बाद प्रशासनिक अधिकारीयों की मौजूदगी में जालोर अस्पताल में मेडिकल बोर्ड एंव पोस्टमार्टम किया गया एंव पुलिस जवानों की और से गार्ड ऑफ देकर मृतक जवान का पार्थिव शरीर परिजनों को सूपूर्द किया जिसके बाद परिजन पैतृक गांव लूणदा के पिथलपुरा पहुंचे जहां पर शुक्रवार क ो गोमती तट स्थित केरेश्वर महादेव में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।


आंख के ऊपर लगी गोली, सिर के दाहिने भाग से आर-पार निकली

प्राप्त जानकारी के अनुसार मेवाड़ भील कोर बटालियन के जवान थे हिम्मत सिंह जो की अपनी कार्बाइन को तैयार कर रहा था एंव अचानक से ट्रिगर दब गया एंव गोली की स्पीड तेज थी की गोली हिम्मत सिंह के आंख के ऊपर भौंह में जाकर लगी जो कि सिर के दाहिने भाग से आर पार निकलने के बाद कमरे की दीवार से जा टकराई और दिवार में छेद हो गया।


सेवानिवृत में 11 माह और बाकी

हिम्मत सिंह कृष्णावत के सरकार के राजकीय सेवा में सिर्फ ११ माह ही नौकरी के शेष बचे थे हिम्मत सिंह का दिसम्बर माह में रिटायरमेंट होना था ।


राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार

शुक्रवार को जवान के पैतृक गांव में अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया गया । इस दौरान जवानों ने बन्दूूकों के पांच राउंड को हवा में फायर कर सलामी दी। जिसके बाद ध्वज तिरंगे में लिपटाया गया। एंव अधिकारी की और से पुष्प अर्पित किये गये। इस दौरान एडिशनल एसपी अताऊरहमान, आईपीएस सीओ वल्लभनगर हिकिता बंसल,कानोड़ थनाधिकारी श्रवण कुमार जोशी,एमबीसी सीईओं,सहित सलामी जवानों की मौजूदगी में राजक ीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। इधर, वल्लभनगर के पूर्व विधायक रणधीर सिंह भीण्डर, कानोड़ तहसीलदार राम निवास मीणा भी अंतिम संस्कार में शामिल होने पहुचे जहां उन्होनें पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित किये।

[MORE_ADVERTISE1]