स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

राजस्‍थान में चली शीतलहर से द‍िन में भी ठ‍िठुरेे लोग, बर्तनों में रखा पानी बन गया बर्फ

Madhulika Singh

Publish: Dec 09, 2019 14:39 PM | Updated: Dec 09, 2019 14:39 PM

Udaipur

दिनभर में हल्का कोहरा छाया रहा। इससे पूर्व बुधवार को न्यूनतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस रहा था। रविवार सीजन का सबसे सर्द दिन रहा

मेनार. सर्द हवा चलने से वातावरण में ठंडक घुल गई है। अब दिन में भी शीतलहर धूजणी पैदा कर रही है, वहीं गलन महसूस होने लगी है। मौसम में बदलाव के साथ ही लोगों की दिनचर्या, पहनावे व खानपान में परिवर्तन आया है। मेनार में न्यूनतम तापमान 11.67 डिग्री सेल्सियम दर्ज हुआ। दिनभर में हल्का कोहरा छाया रहा। इससे पूर्व बुधवार को न्यूनतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस रहा था। रविवार सीजन का सबसे सर्द दिन रहा। तापमान 25 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सुबह-शाम को लोग अलाव जलाकर सर्दी से बचने का प्रयास कर रहे हैं। सर्द हवा और ठंड के कारण लोगों की दिनचर्या पर असर पड़ रहा है। स्कूली बच्चे ठंड से कांपते हुए आ-जा रहे हैं।

खेतों और बर्तनों में जमा पानी
कुंभलगढ़. राजसमंद जिले के कुम्भलगढ़ उपखण्ड की वरदड़ा ग्राम पंचायत स्थित सूरण की भागल में शनिवार-रविवार की दरमियानी रात्रि पारा जमाव बिंदु पर पहुंच गया। खेतों, घर की छतों पर रखा पानी एवं खेतों में बने धोरे में पानी जम गई। सुबह-सुबह जब बच्चे एवं घर के सदस्य खेतों, छतों पर गए तो देखकर हैरान हो गए कि बर्तनों में रखा पानी पूरी तरह से बर्फ बन चुका था। खेतों के धोरों में बहने वाला पानी भी सुबह होते-होते जम गया। सरपंच रेखा पंवार ने बताया कि शनिवार शाम से ही हाथ-पैरों में गलन महसूस हो रही थी। वेरों का मठ के आस-पास खेतों एवं घरों की छतों पर रखे बर्तनों एवं नालियों में पानी जम गया था, लेकिन इस बार जनवरी की बजाय दिसम्बर में ही पारा जमाव बिन्दु पर आ गया है।

[MORE_ADVERTISE1]