स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आए लड़ते-झगड़ते, गए एक-दूजे का हाथ थामे

Manish Joshi

Publish: Dec 15, 2019 01:06 AM | Updated: Dec 15, 2019 01:18 AM

Udaipur

LOKADALAT: जिले भर में राष्ट्रीय लोक अदालत : 9800 चिह्नित प्रकरणों में से 1890 का निस्तारण

धरियावद . न्यायालय में शनिवार को आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में हुई समझाइश से लम्बे समय से अलग-अलग रह रहे दम्पती अपने मनमुटाव को भूलाकर फिर एक साथ जीने को सहमत हो गए। पति- पत्नी एक-दूसरे को माला पहनाकर खुशी-खुशी विदा हुए। इस दौरान उनकी आंखों से खुशी के छलक गई। तालुका विधिक सेवा समिति के अध्यक्ष डॉ महेंद्र सोलंकी की अध्यक्षता में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 76 प्रकरणों का निस्तारण करते हुए 54 लाख 36 हजार 627 रुपए के अवार्ड पारित किए गए। इस दौरान लोक अदालत सदस्य मुनव्वर हुसैन, न्यायिक कार्मिक दीपक गुप्ता, चंद्रप्रकाश, सैयद मोहसिन अली, मयंक चौधरी, कैलाश मोची, वरिष्ठ अधिवक्ता करणसिंह कोठारी, हरिसिंह कोठारी, केशूलाल मीणा, चंदूलाल परमार आदि मौजूद थे।
कानोड़ .शहर के न्यायालय परिसर में वरिष्ठ सिविल न्यायाधीश नुकेश भरोरा की अध्यक्षता में आयोजित लोक अदालत में पक्षकारों से समझाइश वार्ता करते हुए कानून की जानकारी दी गई। इस अवसर पर 26 प्रकरणों का राजीनामे से निस्तारण किया गया। इस मौके पर अधिवक्ता मुकेश चौबीसा, बार अध्यक्ष ख्यालीलाल बाबेल, बैंक अधिकारी रमेश पूर्बिया, सुरेश मेनारिया, कार्यालय सहायक अरुण देव कौशिक, महेश अहारी की मौजदगी में लाभार्थियों को ऋण वितरण के साथ ही छूट दी गई।
झाड़ोल. उपखण्ड मुख्यालय पर तालुका विधिक सेवा समिति की ओर से शनिवार को आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में 360 प्रकरणों को राजीनामे के लिए प्रस्तुत किया गया। फौजदारी व सिविल के 18 एवं प्रिलिटीगेशन के 20 प्रकरणों का निस्तारण हुआ। कुल रुपए 5 लाख 28 हजार 56 के अवार्ड पारित किए गए। इस अवसर पर तालुका समिति अध्यक्ष न्यायिक मजिस्टे्रट मुकेश चावला, एडवोकेट भंवर सिंह झाला, शिवनारायाण पुरोहित, सचिव किशोर कुमार उज्ज्वल पिन्टूराम मीणा सहित सदस्य मौजूद रहे।
वल्लभनगर. तालुल्का विधिक सेवा समिति की ओर से शनिवार को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। तालुल्का समिति की अध्यक्ष आरजेएस सावित्री निर्भीक के निर्देशन में आयोजित शिविर में विभिन्न फौजदारी, सिविल एवं बैंक रिकवरी के कुल 232 प्रकरणों को रखा गया जिसमें से कुल 68 प्रकरणों का निस्तारण किया गया। चेक अनादरण के 2 और 5 वर्ष पुराने मामले, विवाह से संबंधित 6 प्रकरण एवं राजीनामा योग्य 35, 138 एनआई एक्ट के 16 एवं सिविल के 4 प्रकरण निस्तारित किए गए। बैंक रिकवरी के एक लाख बीस हजार रुपए, एनआई एक्ट के 5,31,000 रुपए, विवाह संबंधित प्रकरणों में 1,94,000 एवं चेक अनादरण मामलों में 46,45,400 रुपए का सेटलमेंट करवाया गया। शिविर में बेंच के सदस्य मुकेश कुमार मेनारिया एवं विनोद कुमार ओस्तवाल, सचिव ओम प्रकाश अग्रवाल, रीडर कपिलदेव आमेटा, स्टेनोग्राफर किशन खारोला, राजकुमार, ताराचंद एवं स्टाफ आदि ने सेवाएं दी।

[MORE_ADVERTISE1]