स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

धधकती कलम से फूटी वीर रसधार

pankaj vaishnav

Publish: Nov 17, 2019 01:52 AM | Updated: Nov 17, 2019 01:52 AM

Udaipur

देर रात तक बही काव्य रसधार में खूब भीगे श्रोता, अखिल भारतीय कवि सम्मेलन में ख्यात कवियों ने बांधा समां

उदयपुर/भटेवर . डबोक में उदयपुर सीमेंट वक्र्स लिमिटेड खेल मैदान पर संस्थापक दिवस के अवसर पर आयोजित अखिल भारतीय कवि सम्मेलन में मेवाड़ सहित देश के ख्यात कवियों ने श्रोताओं को भोर तक काव्यरस में भिगोए रखा।

कवि सम्मेलन का आगाज सरस्वती वंदना के साथ हुआ। बाद में अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त कवयित्री कविता किरण ने अपने गीतों से समां बांध दिया। अगली कड़ी में मेवाड़ के सिद्धार्थ देवल की धधकती कलम से फूटी वीर रसधार, मथुरा के मेघ श्याम के श्रृंगार छंद-गीत, मावली के मनोज गुर्जर और बद्री बसन्त की हास्य फुलझडि़यों के अलावा लाफ्टर किंग पंडित सुनील व्यास और हिमांशु बवंडर के 'काव्य बमÓ धमाकों की गंूज देर तक वातावरण में घुली रही। मंच संचालन भीलवाड़ा के कवि बद्री बसंत ने किया।

इससे पूर्व उदयपुर सीमेंट वक्र्स लिमिटेड के एसआर पांडेय, ए के धर, एके बरतरिया, डीके अरोड़ा सहित स्कूल व सीएसआर छात्राओं ने अतिथियों व कवियों का स्वागत किया। बाद में उदयपुर सीमेंट वक्र्स लिमिटेड कर्मचारियों एव अतिथियों ने संस्थापक कमलापत सिंघानिया के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्जवलन किया।

कवि सम्मेलन में मुख्य अतिथि पुलिस महानिदेशक बिनीता ठाकुर, विशिष्ट अतिथि विक्रम ठाकुर, एयरपोर्ट ऑथोरिटी ऑफ इंडिया निदेशक कुलदीप ऋषि सहित जितेन्द्र सिंह चूंडावत व जगदीश राज श्रीमाली सहित अन्य उपस्थित थे।

[MORE_ADVERTISE1]