स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

तम्बाकू की आड़ में गांजा बेचने वाले व्यापारी को 2 साल की सजा

Madhulika Singh

Publish: Dec 14, 2019 15:01 PM | Updated: Dec 14, 2019 15:03 PM

Udaipur

कोर्ट ने आरोपी व्यापारी को 2 साल की कठोर सजा व 10 हजार का अर्थदंड सुनाया।

उदयपुर. मंडी की नाल स्थित गोटियों की गली के व्यापारी को शुक्रवार को विशिष्ट न्यायालय एनडीपीएस प्रकरण ने 2 साल की सजा सुनाई है। आरोपी पर तम्बाकू की आड़ में गांजा बेचने का मामला कोर्ट में विचाराधीन था, जिसकी सुनवाई पूरी तरते हुए न्यायाधीश रविन्द्र कुमार माहेश्वरी ने यह फैसला सुनाया। विशिष्ट लोक अभियोजक कपिल टोड़ावत ने बताया कि नवम्बर, 2011 में धानमंडी थानाधिकारी राजेश शर्मा ने मुखबिर की सूचना पर चोखला बाजार में व्यापारी निर्मल कुमार को तंबाकू-बीड़ी की दुकान में अवैध रूप से गांजे का व्यापार करते पकड़ा था। पुलिस ने मौके से 2 किलो 900 ग्राम गांजा जब्त किया था। एनडीपीएस में प्रकरण दर्ज कर पुलिस ने 16 गवाह, 34 दस्तावेज कोर्ट में पेश किए। कोर्ट ने आरोपी व्यापारी को 2 साल की कठोर सजा व 10 हजार का अर्थदंड सुनाया।

कुएं से मोटर चोरी का आरोपी गिरफ्तार

उदयपुर.बेकरिया थाना पुलिस ने कुएं से मोटर चुराने के अरोपी को गिरफ्तार किया। पुलिस के अनुसार मोहनलाल गरासिया ने 21 नवम्बर को दर्ज रिपोर्ट में बताया कि वह रात्रि में घर की तरफ जा रहा था तभी दशरथ पुत्र शंकर गरासिया, रामचंद्र पुत्र चमना गरासिया व अन्य उसके कुएं से मोटर खोलकर ले जा रहे थे। पीछा करने पर वे मोटर लेकर भाग छूटे। पुलिस ने इनकी तलाश में टीमें लगाई। इस बीच थानाधिकारी सकाराम को मुखबिर से सूचना मिली कि आरोपी दशरथ देवला उपला चौराहे के निकट आया हुआ है। पुलिस ने दबिश देकर आरोपी को पकड़ लिया, उसके कब्जे से सिरोही के जंगलों से दो पानी की मोटर बरामद की। कोर्ट ने आरोपी को न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया। शेष आरोपियों की तलाश की जा रही है।

[MORE_ADVERTISE1]