स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बीसलपुर बांध से बनास में पानी की निकासी जारी, पूरे वेग से बह रही है बाई मुख्य नहर

Pawan Kumar Sharma

Publish: Aug 24, 2019 09:16 AM | Updated: Aug 24, 2019 09:16 AM

Tonk

Drainage of water from Bisalpur dam: बीसलपुर बांध के केचमेंट एरिया में जो पानी आ रहा है उस पानी की निकासी बनास नदी व बाईं मुख्य नहर में की जा रही है।

राजमहल. बीसलपुर बांध Bisalpur Dam से बनास नदी Banas River में शुक्रवार को भी गेट नम्बर 9 से पानी छोड़े जाना जारी रही। बीसलपुर बांध से बनास नदी में गेट संख्या 9 को 50 सेमी खोल कर प्रति सेकंड 3 हजार क्यूसेक पानी की निकासी water drainage बनास में जारी है।

 

इसी प्रकार बांध से बायीं मुख्य नहर में छोड़ा जा रहा 95 क्यूसेक पानी भी यथास्थिति रहा। बाईं मुख्य नहर का पानी टोडारायसिंह क्षेत्र के बोटूंदा, रामपुरा, सालगियावास आदि आधा दर्जन से अधिक तालाबों को भरते हुए टेल तक पहुंच चुका। बाईं मुख्य नहर में कुल पानी छोडऩे की क्षमता 110 क्यूसेक है, जिसमें 95 क्यूसेक पानी की निकासी होने से मुख्य नहर इन दिनों पूरे वेग से बह रही है।

read more: पूर्वी राजस्थान में अगले तीन दिन मूसलाधार बारिश का अलर्ट, बंगाल की खाड़ी में सक्रिय हो रहा मौसमतंत्र

इसी प्रकार बांध के जलभराव में सहायक त्रिवेणी का गेज 1.90 मीटर चल रहा है। वहीं बांध के करीब डाई नदी खारी नदी से भी पानी की आवक जारी है। बांध के कंट्रोल रुम के अनुसार बांध का गेज 315 . 50 मीटर दर्ज किया गया है। जिसमें 38 .70 टीएमसी पानी का भराव है।

read more:छात्रसंघ चुनावी दंगल में 119 प्रत्याशी आजमाएंगे भाग्य, जेडीबी विज्ञान में अध्यक्ष पद पर घमासान

बांध के के चमेंट एरिया से जो पानी आ रहा है उस पानी की निकासी बनास व बाईं मुख्य नहर में की जा रही है। इसी प्रकार बांध से बनास में की जा रही पानी की निकासी कम होते ही राज महल की रपट पर सैलानियों की भीड़ लगने लगी रही।

 

इधर, बीसलपुर बांध से सिर्फ पैदल राहगीरों को गुजारने वह दुपहिया वाहन व अन्य वाहनों को नहीं निकालने से लोगों को टोडारायसिंह से देवली आने के लिए छान की पुलिया होते हुए या फिर केकड़ी होते हुए देवली पहुंचना पड़ रहा है जिससे लोगों को दर्जनों किलोमीटर की अतिरिक्त दूरी तय करनी पड़ रही है।

read more:सांसद दिया कुमारी ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- सरकार को विकास की नहीं कुर्सी बचाने की चिंता

 

नियमित हुई शहर की जलापूर्ति
देवली. इस वर्ष क्षेत्र में हुई अच्छी बारिश व मानसून की मेहरबानी के चलते शहर की जलापूर्ति पहले की तरह प्रतिदिन व नियमित हो गई है। जबकि इससे पहले गत कई माह से शहरवासियों को 48 घंटे में एक बार पानी मिल रहा था। इसकी मंगलवार को जलदाय विभाग के अभियंताओं ने घोषणा की।

 


जलदाय विभाग के कनिष्ठ अभियंता पूरणमल ने बताया कि पिछलों दिनों अप्रेल माह में बीसलपुर बांध परियोजना से मिलने वाली पानी की मात्रा में कटौती करने के साथ ही शहर में विकल्पात्मक व्यवस्था लागू करनी पड़ी थी। इसके तहत शहर को दो दिन में एक बार जलापूर्ति मिल रही थी।

read more:Students Union Election 2019:महिला कॉलेज में चारों पदों पर निर्विरोध प्रत्याशी निर्वाचित,एसबीके महाविद्यालय में एबीवीपी व एनएसयूआइ के बीच सीधा मुकाबला

 

एजेंसी एरिया, पटेल नगर, साकेत कॉलोनी, हनुमाननगर, बंगाली कॉलोनी, ज्योति कॉलोनी सहित क्षेत्रों में अब वापस शाम के वक्त जलापूर्ति होगी। जबकि शेष क्षेत्र में पूर्व की भांति सुबह जलापूर्ति की जाएगी। इससे शहरवासियों में खुशी का माहौल है। इसी प्रकार दूनी के हिस्से में भी 3 लाख लीटर के मुकाबले साढ़े 5 लाख लीटर पानी मिलने लगा है। लिहाजा 72 घंटे के बजाय अब 48 घंटे में जलापूर्ति होगी।