स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बीसलपुर बांध में पानी की आवक हुई कम, दो गेट खोल बनास में 12 हजार 20 क्यूसेक पानी की निकासी जारी

Pawan Kumar Sharma

Publish: Sep 18, 2019 21:13 PM | Updated: Sep 18, 2019 21:13 PM

Tonk

बांध के दो गेट आधा-आधा मीटर तक खोलकर बनास में 12 हजार 20 क्यूसेक पानी की निकासी जारी है।

 

राजमहल. बीसलपुर बांध में पानी की आवक कम होने के साथ ही बांध से बनास नदी में पानी की निकासी भी धीरे-धीरे घटने लगी है। बांध के कंट्रोल रुम के अनुसार बनास नदी में मंगलवार शाम 6.30 बजे तक बांध के दो गेट आधा-आधा मीटर तक खोलकर बनास नदी में प्रति सेकंड 6 हजार 10 क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही थी, जिसे मंगलवार रात 11.30 बजे एक गेट आधा मीटर व दूसरे गेट को एक मीटर तक खोल कर बनास नदी में प्रति सेकंड 9 हजार 15 क्यूसेक पानी की निकासी की गई।

वहीं देर रात 2 बजे फिर से बांध के दो गेट एक- एक मीटर तक खोलकर बनास नदी में प्रति सेकंड 12 हजार 20 क्यूसेक पानी की निकासी कर दी गई, जो देर शाम तक जारी रही। बांध परियोजना के अभियंताओं के अनुसार बांध से बनास नदी में बुधवार सुबह 6 बजे तक अब तक कुल 74 टीएमसी पानी की निकासी की जा चुकी है।

पेयजल लाइन के पॉइंट से बहा हजारों लीटर पानी
देवली. क्षेत्र के बीसलपुर रोड पर अम्बापुरा कॉलोनी स्थित पेयजल लाइन के एयर पॉइंट से हुए लीकेज से मंगलवार रात व बुधवार सुबह तक हजारों लीटर पानी व्यर्थ बह गया। सूचना देने के बावजूद जलदाय विभाग के कर्मचारी लीकेज रोकने नहीं आएं। ऐसे में कॉलोनी में घरों में पानी घुसने लगा है।
ग्रामीणों ने बताया कि बीसलपुर रोड पर ग्रामीण रामनिवास कीर के मकान के समीप स्थित एयर पॉइंट मंगलवार को अचानक लीकेज हो गया। इससे पानी की फव्वारें छूट पड़े। वहीं लीकेज हुआ पानी समीप एकत्र हो गया। रातभर व्यर्थ बहे पानी से हजारों लीटर पानी की बर्बादी हुई, लेकिन योजना से जुड़े जिम्मेदारों को सूचना देने के बावजूद लीकेज बंद करने की सुध नहीं ली। ग्रामीणों ने बताया कि एकत्र हुआ पानी समीप के घरों में घुस रहा है। इससे ग्रामीणों को परेशानी हो रही है।

बनास नदी का किनारा कटने से जलदाय विभाग का स्वीच रुम गिरा
बनेठा. कस्बे के निकट बनास नदी में ईसरदा डेम के किनारे पर जलदाय विभाग का सप्लाई के लिए बनाया गया स्वीच रुम मंगलवार देर शाम को पानी की आवक बढऩे से नदी में ढह गया। जानकारी अनुसार कर्मचारी रमेश माली ने बताया कि बनास नदी पर जलदाय विभाग के स्वीच रुम पानी का जल स्तर बढऩे के कारण दुर्घटना की आशंका को देखते हुए दो दिन पूर्व ही विद्युत कनेक्शन हटा लिया गया था तथा जल वितरण को लेकर व्यवस्थाएं बदल दी गई थी।