स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जल वितरण : आज तय करेंगे बीसलपुर बांध की नहरों में पानी छोडऩे की तिथि

Mohan Lal Kumawat

Publish: Nov 18, 2019 13:23 PM | Updated: Nov 18, 2019 13:23 PM

Tonk

बीसलपुर बांध की दायीं व बायीं मुख्य नहर में सिंचाई के लिए पानी छोडऩे को लेकर जल वितरण समिति की बैठक सोमवार दोपहर 12 जिला कलक्टर के.के.शर्मा की अध्यक्षता में कलक्ट्रेट सभागार में होगी। बैठक में जिला प्रमुख समेत विधायक व अन्य जनप्रतिनिधि शामिल होंगे।

टोंक. बीसलपुर बांध Bisalpur Dam की दायीं व बायीं मुख्य नहर में सिंचाई Irrigation in main canal के लिए पानी छोडऩे release water को लेकर जल वितरण समिति Water distribution society की बैठक सोमवार दोपहर 12 जिला कलक्टर के.के.शर्मा की अध्यक्षता में कलक्ट्रेट सभागार में होगी।

read more : Municipal elections 2019: हार-जीत के कयास, मतगणना का है इंतजार

बैठक में जिला प्रमुख समेत विधायक व अन्य जनप्रतिनिधि शामिल Public representative included होंगे। इसमें नहरों में पानी छोडऩे Release water into the canals की तिथि तय की जाएगी। गौरतलब है कि बीसलपुर बांध से टोंक, जयपुर जिले के कईशहरों व कस्बों Many cities and towns समेत गांवों की प्यास बुझाईजा रही है।

इस साल बीसलपुर बांध का ३१५.५० आर एल मीटर पूर्ण भराव हुआ है। बीसलपुर बांध की ५१.६४ किलोमीटर दायीं मुख्य नहर से २१८ गांवों की कुल ६९ हजार ३९३ हैक्टेयर जमीन सिंचित होती है। नहर से राजमहल, संथली, दूनी, सांखना, दाखिया, मुगलानी, नगफोर्टवितरिकाएं व टोंक ब्रांच शामिल है।

इन वितरिकाओं की कुल लम्बाई ५८१ किलोमीटर है। बांध की बायीं मुख्य नजर १८.६५ किलोमीटर लम्बी है। कुल वितरण मंत्र ९३.६२ किलोमीटर लम्बा है। इससे टोडारायसिंह क्षेत्र के ३८ गांवों की फसलों में सिंचाईहोती है। यहां १२ हजार ४०७ हैक्टेयर में सिंचाई होती है।

read more : अनदेखी: तालाब में गंदगी व अतिक्रमण देख चौंक गए अधिकारी
रामसागर बांध की खोली नहरें
मालपुरा. उपखण्ड के रामसागर बांध गनवर की नहरों में रविवार को सफाई किए जाने बाद पूजा अर्चना कर पानी खोला गया। कनिष्ठ अभियंता जयदेव सिंह सौलंकी, जल उपभोक्ता संगम समिति के अध्यक्ष रामजी लाल चौधरी, गजेन्द्र सिंह, दशरथ सिंह, गोपीलाल सहित कई किसानों की मौजूदगी में साऊथ, नॉर्थ व मीडिल कैनाल में पानी छोड़ा गया।

कनिष्ठ अभियंता ने बताया कि नहरो से बांध में वर्तमान में मौजूद 9.9 फीट पानी से बांध की तीनों नहरों से क्षेत्र के केरिया, गनवर, देशमा, देशमी, रामपुरा, सदरपुरा व श्योपुर की लगभग 46 6 हैक्टेयर भूमि में सिंचाई हो पाएगी।

read more : जैविक कृषि में देश अग्रणी व सार्थक योगदान
बैठक 20 को
उपखण्ड क्षेत्र के टोरडी सागर बांध की नहरों को खोले जाने को लेकर टोरडी सागर डाक बंगले में 20 नवम्बर दोपहर तीन बजे जिला कलक्टर किशोर कुमार शर्मा की अध्यक्षता में जल वितरण समिति की बैठक होगी। यह जानकारी कनिष्ठ अभियंता जयदेव सौलंकी ने दी।

read more : धार्मिक कार्यक्रम:संतों का मिलन किसी त्यौहार से कम नहीं: आचार्य विभव सागर
टेल तक नहीं पहुंचा पानी
बनेठा. गलवा बांध की मुख्य नहर का पानी एक सप्ताह बाद भी टेल पर नहीं पहुंचा है। इससे फसलों की बुवाई समय पर नहीं होने की आशंका तले किसान मायूस है। किसान महापंचायत छात्र संगठन के प्रदेशाध्यक्ष रामेश्वर चौधरी एवं देवकरण गुर्जर ने बताया कि टेल स्थित किसानों ने गलवा बांध की नहर खोलने की संभावना से सरसों की फसल की बुवाई एक माह पूर्व समय पर कर दी थी,

लेकिन गलवा बांध की नहर छोड़े जाने के एक सप्ताह बाद भी ठिकरिया, सुरेली, पावाडेरा, सेदरी, कैरोद, चितानी, सुरज्या भैरू, रघुनाथपुरा, बनेठा, गोदलाई में अभी तक पानी नहीं पहुंचा है। इससे किसानों को 45 दिन बाद भी सरसों की पिलाई एवं गेंहू व चना की बुवाई के लिए रेलनी नहीं हो पाई है।

किसानों ने बताया कि संभागीय आयुक्त अजमेर की अध्यक्षता में हुई बैठक में टेल पर पानी पहले पानी पहुंचाने के निर्देश दिए गए थे, लेकिन गलवा बांध की नहरों पर गेट नहीं लगाकर आगे पानी पहंचाने की कोशिश नहीं की जा
रही है।

[MORE_ADVERTISE1]