स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सेवा भारती समिति की ओर संग्रहित राशि को गोशालाओं के लिए की भेंट

Pawan Kumar Sharma

Publish: Jan 22, 2020 20:04 PM | Updated: Jan 22, 2020 20:04 PM

Tonk

सेवा भारती समिति की ओर से मकर संक्रांति के अवसर लगाए गए गोशाला सेवार्थ काउंटर से संग्रहित राशि को मंगलवार को उनियारा व हमीरपुर गोशाला को भेंट किया गया।

मालपुरा. सेवा भारती समिति की ओर से मकर संक्रांति के अवसर लगाए गए गोशाला सेवार्थ काउंटर से संग्रहित राशि को मंगलवार को उनियारा व हमीरपुर गोशाला को भेंट किया गया। सेवा भारती समिति के वैद्य रमेश चंद शर्मा ने बताया कि समिति की ओर से मकर संक्रांति पर शहर के बस स्टैण्ड एवं व्यास सर्कल पर गौ सेवार्थ एकत्रित की गई राशि 76 हजार 8 00 रुपए में से 55 हजार 8 00 रुपए श्री रामकृष्ण गोशाला उनियारा खुर्द तथा श्री राधा गोपाल गोशाला हमीरपुर को 21 हजार रुपए की राशि समिति के महावीर प्रसाद सुराशाही, सीताराम पारीक, धु्रवप्रसाद नामा, विमलेश कुमार शर्मा, शेर सिंह राजावत, सतीश सोगानी सहित सदस्यों द्वारा भेंट की गई।


गोशाला के लिए दी भूमि का दान
पीपलू (रा.क.). उपखंड क्षेत्र के झिराना में जगदीश चौपड़ा तथा उनके मित्र मनवर पठान चाकसू ने गोशाला के लिए दो-दो बीघा जमीन दान दी हैं। जगदीश चौपड़ा ने बताया कि बेसहारा मवेशियों को विचरण करते देख उनके तथा उनके मित्र के प्रति गो सेवा को लेकर गोशाला बनाने का विचार आया, लेकिन इसके संचालन में जमीन आदि की समस्या सामने आई। इस पर दोनों ने आपस में विचार विमर्श करते हुए गत दिनों झिराना के जिंद बाबा के यहां हुई भागवत कथा के दौरान केदारनाथ मंदिर के पास अपनी 2-2 बीघा जमीन को गौ सेवा के लिए दान की घोषणा कर दी।

झंडारोहण के साथ गोशाला की शुरुआत
उपखंड क्षेत्र के झिराना में दो भामाशाहों द्वारा भूमि दिए जाने के बाद झंडारोहण कर गोशाला की शुरुआत की गई। सोमवार शाम को भामाशाह जगदीश चौपड़ा तथा नवनिर्वाचित सरपंच अशोक राव ने गायों की पूजा-अर्चना के साथ झंडारोहण कर विधिवत शुरुआत की हैं।

समिति से जुड़े सीताराम माली ने बताया कि गौशाला के लिए जमीन दान करने के बाद केदारनाथ बाबा मंदिर में एक बैठक करते हुए समिति का गठन किया तथा गोशाला को लेकर कार्य शुरु किया। इसके बाद यहां ग्रामीणों के सहयोग से तारबंदी, छाया आदि की व्यवस्था की गई। साथ ही ग्रामीणों के सहयोग से इसका बेहतर संचालन भी किया जाएगा। इस दौरान महिलाओं ने मंगल गीत गाए गए। इस मौके काफी संख्या में महिला-पुरुष श्रद्धालु मौजूद रहे।

[MORE_ADVERTISE1]