स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नालियों में जमा कचरा, सडक़ पर गहरे गड्ढे, घरों के बाहर जमा हो रहा पानी

Pawan Kumar Sharma

Publish: Nov 08, 2019 13:23 PM | Updated: Nov 08, 2019 13:23 PM

Tonk

नालियों व सडक़ मार्ग पर गड्ढों में कीचड़ भरे रहने से आने-जाने वाले वाहन चालकों व ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं।

पीपलू (रा.क.). कस्बे के नाथड़ी रोड पर सहायक कृषि अधिकारी के कार्यालय के यहां नाली अवरुद्ध होने से लोगों के घरों के बाहर पानी जमा होने से परेशानी उठानी पड़ रही हैं। स्थानीय निवासी बीना ने बताया कि लोगों द्वारा नाली के पानी को आगे नहीं जाने दिया जाता हैं। इससे नाली का पानी घरों के बाहर जमा होने लगा हैं तथा इसमें मच्छरों के पनपने से संक्रमण का खतरा बढ़ गया हैं। लोगों ने ग्राम पंचायत प्रशासन से नाली की सफाई करते हुए सुचारु करवाने की मांग की हैं।


वाहन चालक हो रहे हैं चोटिल
उपखंड क्षेत्र के ग्राम पंचायत कुरेड़ा से नाथड़ी मार्ग पर कीचड़ भरे रहने से आने-जाने वाले वाहन चालकों व ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं। ग्रामीण लोकेश, महेंद्र मीणा ने बताया कि गौरव पथ निर्माण के दौरान नालियों के निर्माण तो हुआ लेकिन उनमें मिट्टी भर जाने तथा क्षतिग्रस्त होने से सडक़ों पर पानी जमा होने लगा हैं।

वहीं इससे सडक़ पर गहरे गड्ढे भी हो गए हैं। इसके कारण कई बार दुपहिया वाहन चालक अनियंत्रित होकर चोटिल भी हुए हैं। सडक़ पर दो-तीन फुट गहरे गड्ढे होने के कारण रात के समय तो पता भी नहीं चल पाता हैं सडक़ पर कितना पानी जमा हैं तथा कहां गड्ढा आएगा। ग्रामीणों ने इस समस्या को लेकर उपखंड एवं पंचायत प्रशासन से समाधान की मांग की हैं।

बीमारियों से बचाव के लिए काढ़ा पिलाया
टोडारायसिंह. डेंगू समेत अन्य मौसमी बीमारियों की रोकथाम को लेकर क्षेत्र के राउमावि पवालिया, मोर, बावड़ी व दतोब स्थित आयुर्वेद औषधालयों की ओर से स्कूली बच्चों को काढ़ा पिलाया गया। नोडल प्रभारी एवं आयुर्वेद चिकित्सक डॉ सुरेश चंद ने विद्यार्थियों को क्षेत्र में मौसम परिवर्तन के साथ स्वाइन फ्लू, डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया जैसे मौसमी रोग फैलने के कारण, उपचार के साथ सावधानियां बरतने की जानकारी दी।

पवालिया में करीब 400 विद्यार्थियों को काढ़ा वितरण किया गया। बावड़ी में डॉ योगेंद्र उपाध्याय की देखरेख में विद्यार्थियों को काढ़ा पिलाया गया। दतोब में बनवारी लाल धोबी ने बताया कि आयुर्वेद चिकित्सक प्रेमशंकर गुप्ता व प्रधानाचार्य रामेश्वर चौधरी की देखरेख में करीब 300 विद्यार्थियों को काढ़ा पिलाया गया। इधर, मोर में आयुर्वेद चिकित्सक डॉक्टर लोकेंद्र गुप्ता व प्रधानाचार्य ओमप्रकाश जांगिड़ की देखरेख में करीब 500 बच्चों को काढ़ा पिलाया गया।

[MORE_ADVERTISE1]