स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

राष्ट्रीय लोक अदालत में राजीनामें से किया दर्जनों प्रकरणों का निस्तारण

Jalaluddin Khan

Publish: Sep 16, 2019 18:54 PM | Updated: Sep 16, 2019 18:54 PM

Tonk

राष्ट्रीय लोक अदालत में ग्राम न्यायालय सहित तीनों न्यायालयों के 176 प्रकरण रखे गए। इनमें 37 प्रकरणों का राजीनामे से निस्तारण किया गया।

देवली। स्थानीय न्यायालय परिसर में न्यायिक मजिस्टे्रट अमरसिंह खारडिय़ा की अध्यक्षता में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन हुआ। इसमें दर्जनों प्रकरणों का राजीनामे के जरिए निस्तारण किया गया। तालुका विधिक सेवा समिति सचिव हरीश कुमार जैन ने बताया कि इसमें ग्राम न्यायालय सहित तीनों न्यायालयों के 176 प्रकरण रखे गए। इनमें 37 प्रकरणों का राजीनामे से निस्तारण किया गया।

वहींं 14 लाख 88 हजार व 500 रुपए की सेलटमेंट राशि हुई। इसी प्रकार 190 प्री-लिटीगेशन प्रकरण रखे गए। इनमें 28 प्रकरण निस्तारित किए गए। इनमें 38 हजार 665 रुपए की सेटलमेंट राशि हुई। राष्ट्रीय लोक अदालत में विभिन्न बैंकों के शाखा प्रबंधक व बीएसएनएल से कर्मचारी उपस्थित हुए।

राष्ट्रीय लोक अदालत में बैंच सदस्य, अभिभाषक महावीर सिंह, सागर चौहान, वीरेन्द्र चौहान, सांवरिया, समीर सोनी, शिवजीराम डडवाडिया, बंशीलाल कलवार, कमलेश वैष्णव व न्यायालय कर्मचारी संजय जैन, यासीन अली, पुष्पेन्द्र अग्रवाल, शंकरलाल टेलर, अशोक चौधरी उपस्थित थे।

लोक अदालतें होगी वरदान साबित-उमेश वीर
निवाई. अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के सभागार में अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट उमेश वीर कीअध्यक्षता में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन हुआ। लोक अदालत में अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट उमेश वीर ने कहा कि लोक अदालत में समय व धन की बचत होती है।

सामान्य लोगों के लिए लोक अदालतें वरदान साबित हो रही है। विधि एवं मानवाधिकार विभाग के अध्यक्ष बनवारीलाल यादव ने बताया कि लोक अदालत में राजीनामें करवाकर फौजदारी, सिविल विवाद व बैंक रिकवरी मामले वैवाहिक विवाद, श्रम विवाद, पानी व बिजली के बिल एवं घरेलु हिंसा सहित दर्जनों मामलों का निस्तारण किया गया।

इस अवसर पर बार अध्यक्ष एडवोकेट गोपाल चौधरी, पूर्व बार अध्यक्ष नरेन्द्र जाट, विधि व मानवाधिकार विभाग अध्यक्ष बनवारीलाल यादव, महासचिव दयाराम गुर्जर, गिरधरसिंह तंवर सहित कई अधिवक्ता मौजूद थे। इसी प्रकार मुन्शीफ न्यायालय में न्यायिक मजिस्ट्रट प्रीति चौधरी की अध्यक्षता में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन हुआ।