स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जिनालय में किया जवानों की जिदंगी व शहादत पर आधारित नाटक का मंचन

Pawan Kumar Sharma

Publish: Sep 15, 2019 20:49 PM | Updated: Sep 15, 2019 20:49 PM

Tonk

Staged drama: जिनालय में जैन सोशल ग्रुप ने एक शाम वतन के नाम कार्यक्रम में जवानों की जिदंगी तथा उनकी शहादत पर आधारित नाटक का मंचन किया।

पीपलू (रा.क.). ऋणि है हम उन जवानों के, जो सरहदों पर अपना जीवन बिताते हैं। फर्ज के नाम पर देखों कैसे ये वीर, मुस्कराकर मौत को गले लगाते हैं. कुछ इन्हीं पंक्तियों के साथ कस्बे के जिनालय में जैन सोशल ग्रुप ने एक शाम वतन के नाम कार्यक्रम में जवानों की जिदंगी तथा उनकी शहादत पर आधारित नाटक का मंचन किया।

नाटक के दौरान जवानों से जुड़े कई दृश्यों का मार्मिक मंचन किया गया। बोर्डर पर शहीद हुए जवान का पार्थिव शरीर जब सम्मान के साथ घर आता हैं तो उस पर जवानों सहित अतिथियों द्वारा पुष्प अर्पित किए जाते हैं। इन दृश्यों को देखकर हर एक दर्शक की आंखे नम हो गई।

इससे पूर्व कार्यक्रम में अतिथि के रूप में सरपंच प्रतापसिंह राजावात, भाजपा मंडल अध्यक्ष जगदीशसिंह राजावात, पंचायत समिति सदस्य सत्यनारायण चंदेल, महामंत्री राजेश गौड़, राजेंद्र दाधीच, पदमचंद जैन, ओमप्रकाश जैन, विनोद, विमल आदि ने भगवान के दीप प्रज्जवलन कर कार्यक्रम की शुरुआत की।

नाटक में जैन सोशल ग्रुप के मोहित जैन, विजय जैन, हिमांशु जैन, अभिषेक जैन, आशीष जैन, उमेश जैन, नीता जैन, अंतिमा जैन सहित पूरी टीम ने मंचन किया। कार्यक्रम का संचालन अतुलकुमार जैन ने किया। इस दौरान अतिथियों द्वारा नाट्य मंचन टीम का सम्मान भी किया गया।


लघुनाटिका से दिया संदेश
टोडारायसिंह. कस्बे स्थित राबाउमावि में बाल विवाह में लघुनाटिका के माध्यम से बाल विवाह व नशामुक्ति का संदेश दिया। राबाउमावि में कार्यवाह प्रधानाचार्य रेणु मंगल की अध्यक्षता में बाल विवाह नाटक के मंचन का आयोजन हुआ, जिसमें छात्राओं ने गीत, गजल, कविताए आदि की प्रस्तुति दी।

इस दौरान छात्राओं ने बाल विवाह रोकथाम व नशामुक्ति को लेकर लघुनाटिका का मंचन कर अभिभावक व छात्राओं को संदेस दिया। कार्यक्रम में अध्यापिका बसंती देवी व शशिकला शर्मा ने बाल विवाह रोकथाम के लिए प्रेरित किया। इसी प्रकार राउमावि में प्रधानाचार्य अजगर अली की अध्यक्षता में बाल सभा का आयोजन किया गया। यह जानकारी व्याख्याता बालकिशन शर्मा ने दी।